कोटा रेलवे स्टेशन पर लगेंगे 6 एस्केलेटर, स्टेशनों का होगा विस्तार

0
32

कोटा। पश्चिम मध्य रेलवे के प्रोजेक्ट्स के लिए रेलवे 3200 करोड़ रुपए का बजट है। जो पिछले वर्ष की राशि 2962 करोड़ से 8 प्रतिशत अधिक है। यात्री सुविधा के लिए इस वर्ष 70 करोड़ खर्च किए जाएंगे। साथ ही फुटओवर ब्रिज तथा हाईलेवल प्लेटफाॅर्म का निर्माण पर 325 करोड़ व स्टेशन पर शॉफ्ट अपग्रेडेशन के लिए 100 करोड़ के नए कार्य करवाए जाएंगे।

बीना-कोटा डबलिंग के लिए 200 करोड़
कोटा में 6, सवाईमाधोपुर में 5 व भरतपुर में 4 नए एस्केलेटर लगाए जाएंगे। कोटा रेल मंडल के लिए 30 फुट ओवरब्रिज स्वीकृत हुए हैं। कोटा रेल प्रशासन ने 10 फुट ओवरब्रिज अौर मांगे हैं। स्टेशनों के बाउंड्रीवाल पर 500 करोड़ खर्च होंगे।  रेल लाइन के दोहरीकरण व तिहरीकरण की 14 परियोजनाओं के लिए 1140 करोड़ रुपए का बजट है। इनमें बीना-कोटा डबलिंग के लिए 200 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं।

रामगंजमंडी-भोपाल लाइन के लिए 260 करोड़
वहीं, 575 करोड़ रुपए से नई लाइनों पर खर्च किए जाएंगे। रामगंजमंडी-भोपाल (262 किमी) के लिए 260 करोड़ का बजट है। 500 रेलवे स्टेशनों पर 1000 लिफ्ट लगाई जाएंगी। पश्चिम मध्य रेलवे के सभी ए एवं ए-1 श्रेणी के स्टेशनों पर लिफ्ट व एस्केलेटर का प्रावधान होगा। इसके लिए 404 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

स्टेशनों पर वॉशेवल एप्रान का प्रावधान होगा। इसके लिए 200 करोड़ का बजट आवंटित किया गया है। 25 रेलवे स्टेशनों पर क्विक वाटरिंग अरेंजमेंट के लिए 50 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। रेलवे ओवरब्रिज व अंडरब्रिज के कार्यों पर 320 करोड़ रुपए आवंटन किए गए हैं। वहीं, 68 करोड़ रुपए से पुराने पुलों को मजबूत किया जाएगा।

रामगंजमंडी व सवाईमाधोपुर में बाईपास रेल लाइन बिछेगी
रेल यातायात सुविधा के लिए इस वर्ष 145 करोड़ राशि का आंवटन किया गया है। साथ ही इसमें बाईपास रेल लाइन, एकस्ट्रा लाइन बिछाने पर 135 करोड़ रुपए खर्च होंगे। कोटा रेल मंडल के रामगंजमंडी व सवाईमाधोपुर में भी एक्स्ट्रा लाइन बिछाई जाएगी। कछपुरा, गुना, रुठियाई में भी ये कार्य होंगे। कोटा में ट्रैक रिन्युअल व स्टैंडर्ड हाइटगेज लगेंगे

लाइनों के विद्युतीकरण के लिए 396 करोड़
पश्चिम मध्य रेल में 1600 करोड़ की लागत के 5 विद्युतीकरण परियोजनाओं के लिए इस वर्ष 396 करोड़ राशि का आवंटन किया गया है। रतलाम-नीमच-चंदेरिया-कोटा 384 किमी के लिए 126 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं।

इटारसी-कटनी-मानिकपुर 653 किमी के लिए 63 करोड़, कटनी-सिंगरौली 260 किमी के लिए 100 करोड़, रतलाम-नीमच-चन्देरिया-कोटा 348 किमी के लिए 126 करोड़, विजयपुर-मक्सी के लिए 91 करोड़, गुना-ग्वालियर 227किमी के लिए 15 करोड़ की राशि का आवंटन इस वर्ष किया गया।

बजट में ट्रैक रिनुवल व स्टैंडर्ड हाइटगेज लगाने के काम की घोषणा की गई है। कोटा रेल मंडल से जुड़े हाइवे के पास के रेलवे क्रॉसिंग के पास स्टैंडर्ड हाइटगेज लगाए जाएंगे। पश्चिम मध्य रेलवे में 12 लेवल क्रॉसिंग की इंटरलॉकिंग व स्टैंडर्ड हाइटगेज के लिए 32 करोड़ के कार्य स्वीकृत किए गए हैं।

कोटा-मथुरा रेल खंड में ट्रैक रिनुवल
कोटा-मथुरा रेल खंड में ट्रैक रिनुवल का काम होगा। इसमें ट्रैक को बदला जाएगा। पैड्रोल क्लिप नए लगेंगे। स्टेशन से जुड़ी यार्ड की रेल लाइनों को बेहतर किया जाएगा। कोटा-मथुरा सेक्शन में रिग्रेडिंग का काम होगा।

इसमें ढलान क्षेत्र में ट्रैक सुधार होगा। नागदा-मथुरा सेक्शन में ट्रैक को जोड़ने के लिए की गई वेल्डिंग के कार्य को मशीन से करवाया जाएगा। इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी वर्क के लिए 250 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं।