कलेक्टर के निर्देश के बाद भी स्मृतिवन के नहीं सुधरे हालात

0
51

कोटा। वन विभाग के अनंतपुरा एंव कर्णेश्वर स्मृतिवन के हालात सतर्कता समिति में जिला कलेक्टर एवं विभाग के उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद भी नहीं सुधरे। गत दिवस स्मृतिवन सलाहकार समिति एंव वन प्रेमियों ने अनंतपुरा एवं कर्णेश्वर के पौधारोपण का अवलोकन कर श्रमदान किया।

समिति के सचिव एवं पर्यावरणविद् बृजेश विजयवर्गीय, डॉ. कृष्णेंद्र सिंह ने बताया कि पौधे विभाग की उदासीनता के कारण बेमौत मर रह है। स्मृतिवन की दीवारें कई जगह से टूटी हुई है। टूटी दीवारों को लांघ कर बस्ती के लोग खुले में शौच के लिए वन भूमि को काम में ले रहे है तथा मवेशी भी आसानी से प्रवेश कर पौधों को नुकसान पहुंचा रहे है।

वन प्रेमी जल बिरादरी की गीता दाधीच, सोसायटी फॉर ईकॉलाजी रिसोर्स (शेर) भरत लोधा,मुकेश सुमन,सरिता ब्रह्मभट्ट,प्रवीण कुमार,भवानी शंकर मीणा आदि ने कहा कि वन विभाग की उदासीनता की शिकायत प्रधान मंत्री एवं मुख्य मंत्री को की जाएगी।

कोटा के अधिकारी स्थिति की बिगड़ती देख रहे है। जबकि हजारों पौधे वन नर्सरियों में रोपने के अभाव में मरते जा रहे है। वनों के कुप्रबंधन का इससे बड़ा उदाहरण क्या हो सकता है? विजयवर्गीय एवं सिंह ने कहा कि आगामी शिवरात्रि पर समिति की ओर से पौधारोपण की तीसरी वर्षगांठ मनाई जाएगी।