ट्रैफिक पुलिस में घूसखोरी के खेल का ऑडियो वायरल

0
26

कोटा। शहर के आम नागरिक ट्रैफिक पुलिस पर वसूली करने जैसे आरोप हमेशा से लगाते आए हैं, लेकिन अब ट्रैफिक पुलिस के एक कांस्टेबल ने खुद डिपार्टमेंट पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। इसका ऑडियो वायरल हो गया है, जिसमें कांस्टेबल घनश्याम टटवाड़िया अपने सीनियर हैड कांस्टेबल राधेश्याम पर नो एंट्री में घुसे एक वाहन को छोड़ने के एवज में रिश्वत के 500 रुपए लेने का आरोप लगा रहे हैं। 

ऑडियो वायरल होने के बाद से पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। अधिकारी भी सकते में हैं। ऑडियो ज्यादा बड़ा नहीं है, लेकिन उसमें जो बातें बोली गई हैं, वो बड़ी हैं। यही वजह है कि ट्रैफिक पुलिस के सिपाहियों में पिछले दो दिनों से यह मामला चर्चा का विषय बना हुआ है।

वायरल ऑडियो की बातचीत
मैं कोटा ट्रैफिक पुलिस का.. मेरा मिलने वाला था इंदौर का… ट्रक लेकर आया था कान्हा गार्डन के पास में। रामस्वरूप हैड साहेब की ड्यूटी लग रही थी। मेरी फोन पर बात भी हुई थी उससे। मैंने कहा आप इसको डायवर्ट कर दो और समझा दो। बोला था उसको पैसे मत लेना मेरे मिलने वाले हैं।

उसने 700 रुपए मांगे थे.. उसने बोला कि तू टटवाड़िया का मिलने वाला है तो 500 रुपए दे दे। 500 रुपए ले लिए मना करने के बावजूद। यह बड़े शर्म की बात है… ट्रैफिक में होते हुए भी ट्रैफिक वालाें की बात नहीं मानता। बैच का आदमी है… मना करने के बाद भी 500 रुपए ले लिए भैया…

क्या किया जाए कोटा पुलिस का? बड़े शर्मनाक की बातें हैं भैय्या… चलो कोई बात नहीं बाय..बाय… लेकिन गलत बात है ये.. पैसे नहीं लेने चाहिए फोन पर बात होने के बाद, मना करने के बाद … यह है भैय्या कोटा सिटी का हाल… ट्रैफिक पुलिस का….। (जैसा सोशल मीडिया पर वायरल ऑडियो में है।)

दोनों पर होगी कार्रवाई
ऑडियो वायरल होने के बाद  ट्रैफिक पुलिस के सिपाहियों से बातचीत करके जानने की कोशिश की कि आखिर विभाग में चल क्या रहा है? सभी सिर्फ एक ही बात बोले- छोटों से लेकर बड़ों तक सभी एक दूसरे के विषय में सब कुछ जानते हैं, लेकिन कोई किसी के खिलाफ कुछ बोलता नहीं।

ऐसा करना भले ही सत्य का साथ देना हो, लेकिन यह पुलिस विभाग के अनुशासनात्मक सिद्धांतों के सख्त खिलाफ है।’ इधर, अधिकारियों का कहना है कि ऑडियो में लगाए आरोप अगर सत्य पाए गए तो दोनों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

हैडकांस्टेबल बोला-चालान काटा था
हैड कांस्टेबल रामस्वरूप का कहना है कि सभी आरोप झूठे हैं। नो एंट्री में गाड़ी आई थी तो मैंने नियमानुसार चालान काट दिया था। चालान 500 रुपए का काटा गया था। मैने इस संबंध में टटवाड़िया की शिकायत उच्च अधिकारियों को की है। इधर, जब इस संबंध में कांस्टेबल घनश्याम टटवाड़िया से बात की गई तो उन्होंने कुछ भी बोलने से मना कर दिया।

ऑडियो की जांच करेंगे : डीएसपी
यह ऑडियो मेरी जानकारी में नहीं है। टीआई से शिकायत की गई होगी। ऑडियो की जांच करवाई जाएगी, अगर पैसे लेने वाली बात सत्य है तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई होगी। ऑडियो डालना भी अनुशासन के खिलाफ है। पहले जांच की जाएगी और उसके बाद निश्चित रूप से कार्रवाई होगी। – श्योराजमल मीणा, डीएसपी ट्रैफिक