बांसवाड़ा में कच्चा तेल होने के संकेत, जांच करने ओएनजीसी की टीम पहुंची

0
46

बांसवाड़ा। सैटेलाइट सर्वे से संकेत मिले हैं कि बांसवाड़ा में भी कच्चे तेल का भंडार छिपा हुआ है। इन संकेतों के आधार पर जिले में इसकी जांच भी शुरू कर दी गई है। अगर सब कुछ सही रहा तो आने वाले कुछ सालों में यहां भी बड़ा प्लांट लगना संभव है।

कच्चे तेल की पड़ताल के लिए कुशलगढ़ के घाटा क्षेत्र में केन्द्र के उपक्रम ऑइल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन (ओएनजीसी)  की टीम पहुंच चुकी है। टीम ने क्षेत्र के सेमलदा गांव को सेंटर प्वाॅइंट मानकर 2डी सर्वे शुरू कर दिया गया है। यह सर्वे 4 से 5 दिनों में पूरा हो जाएगा। टीम के साथ पहुंचे पीआरओ रिंंकू राठौड़ ने अहम जानकारी साझा की, जिससे बांसवाड़ा को नई पहचान मिलेगी।

2 डी सेसमिक जांच से मिलेगी अंदर की रिपोर्ट
राठौड़ ने बताया कि आेएनजीसी की ओर से मध्यप्रदेश के 15 जिलों के साथ राजस्थान के बांसवाड़ा में सर्वे किया जा रहा है। 2डी सर्वे में एक केबल लाइन बिछाई जा रही है। दो दिन के लिए यह केबल 20 से 25 किमी तक बिछाई जाएगी। इसके माध्यम से जमीन का एक्सरे लिया जाएगा।

केबल के लिए जमीन में 100 से 130 फीट गहराई तक छेद होगा। इस केबल से जमीन के 3000 मीटर अंदर तक का डाटा मिलेगा। उसे पहली जांच के लिए दिल्ली भेजा जाएगा। इसके बाद वहां पर जांच करने के बाद यह सभी जानकारी देहरादून और बड़ौदा में मौजूद केन्द्रों को भेजी जाएगी।

इस पूरी प्रक्रिया में करीब 6 माह लगेंगे। इस रिपोर्ट के परिणाम के बाद 3डी जांच शुरू की जाएगी। इसमें जमीन अधिग्रहित नहीं किया जाता, बल्कि सरकारी प्रक्रिया के तहत किसान से जमीन लीज पर ली जाती है। जिसे निर्धारित राशि किसान को दी जाती है।

इसलिए है बांसवाड़ा में उम्मीद
स्थानीय जमीन के भीतर कई महत्वपूर्ण खनिज और द्रव्य पदार्थ विद्यमान हैं। बांसवाड़ा जिले में सैटेलाइट सर्वे में 50 फीसदी कच्चे तेल की उपलब्धता की जानकारी मिली है। पीआरओ ने बताया कि सर्वे में 50 फीसदी सफलता मिलने पर ही जमीनी स्तर पर काम शुरू किया जाता है।

हालांकि यह पूरी प्रक्रिया करने में कुछ समय जरूर लगता हैं, लेकिन फाइनली अच्छी रिपोर्ट सामने आएगी। ऐसे में लोगों को भी इससे काफी उम्मीदें बढ़ गई हैं। यदि सर्वे के बाद कच्चे तेल के भंडार मिल जाते हैं तो सरकार को इससे काफी राजस्व प्राप्त होगा और स्थानीय लोगों को भी रोजगार मिल सकेगा। चार से पांच दिन के भीतर सर्वे पूरा हो जाएगा।