इंजीनियरिंग के नए फील्ड से अपडेट हुए कोचिंग विद्यार्थी

0
43

शिक्षा महोत्सव-2018 : दो दिवसीय महोत्सव में कोचिंग विद्यार्थियों को विभिन्न संस्थानों के विशेषज्ञों से 400 से अधिक कोर्सेस की निशुल्क जानकारी मिली

कोटा। पटना से सौरभ प्रकाश एवं वाराणसी से मोहम्मद उस्मान इस वर्ष शिक्षानगरी में जेईई-एडवांस्ड की कोचिंग ले रहे हैं। रविवार को शिक्षा महोत्सव-2018 में उन्हें पता चला कि आईआईटी में सलेक्शन नहीं होने पर वे कौनसे कॉलेज से मनपसंद ब्रांच में बीटेक कर सकते हैं।

युवा मोटिवेटर रविन्द्र साहू ने बताया कि अधिकांश कोचिंग विद्यार्थी यह जानने को उत्सुक रहे कि रैंक अच्छी नहीं मिली तो उनके लिए दूसरे अच्छे विकल्प क्या हो सकते हैं। यह उन्हें कई नए ऑप्शन मिले। झालावाड़ रोड पर सिटी माल के सामने निशुल्क शिक्षा महोत्सव में कोचिंग विद्यार्थियों का तांता लगा रहा।

विभिन्न कॉलेजों के विशेषज्ञ विद्यार्थियों को सही काउंसलिंग एवं गाइडेंस देने में व्यस्त रहे। जेईई स्टूडेंट प्रशांत यादव एवं संध्या पर्भनी ने बताया कि हमारे कई डाउट क्लियर हुए। जो स्टूडेंट स्पोटर्स में अच्छा है, उसे क्या फायदा मिल सकता है, यह भी पता चला।

दिल्ली के छात्र अतीक को काउंसलिंग से यह पता चला कि आईआईटी व एनआईटी के अलावा देश में और भी प्रमुख इंस्टीट्यूट हैं। कोटा से 12वीं के छात्र अभिषेक सिंह और दिव्यांश गौतम ने कहा कि कई कॉलेज ग्रुप एक प्लेटफार्म पर होने से हमें बेस्ट कॉलेज चुनने में मदद मिलेगी। गोरखपुर के पीयूष यहां जेईई की कोचिंग ले रहे हैं।

वे सॉफ्टवेयर में क्वालिटी डिग्री लेने के लिए अच्छे कॉलेज ढूंढते नजर आए। फरूखाबाद के रजित च गोरखपुर के आदर्श अग्रवाल ने बताया कि हमें पहली बार ऐसे कोर्सेस के बारे में पता चला, जिनके बारे में पहले नाम तक नहीं सुना था। चित्रकूट के शिवम पांडे और सीतामढ़ी, बिहार के सुशील कुमार महतो कोटा में अपनी परफॉर्मेंस से खुश हैं लेकिन यहां नए फील्ड के बारे में जानकर उन्हें अच्छा लगा।

लर्निंग एटीट्यूड से आगे बढ़ते रहो
एबीईएसआईटी, गाजियाबाद के प्लेसमेंट हेड नितिन जैन ने कहा कि स्टूडेंट फेसबुक की तरह हर दिन खुद को अपडेट करते रहें। हमने कॉपोरेट रिसोर्स सेंटर विकसित कर 2017 में 91 प्रतिशत स्टूडेंट्स को जॉब ऑफर दिलाए।

इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स में लर्निंग एटीट्यूड अच्छा हो तो कंपनियां उन्हें उंचे ऑफर देती हैं। वर्ल्डक्लास लाइब्रेरी हेड डॉ.राकेश तोमर ने बताया कि देश को स्किल सेंटर बनाने के लिए लर्निंग बेस्ड मेंटरिंग सिस्टम सबसे जरूरी है।

400 कोर्सेस की निशुल्क जानकारी दी
मोटिवेटर रविंद्र साहू ने बताया कि निशुल्क शिक्षा महोत्सव में विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग, मेडिकल, डेंटल, फार्मा, मैनेजमेंट, एयरनॉटिक्स, मीडिया व आईटी के नवीनतम कोर्सेस की निशुल्क जानकारी एक ही मंच दी गई।

महोत्सव में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, मोहाली, जीएनआईओटी, यूनाइटेड ग्रुप ग्रेटर नोएडा, इंद्रप्रस्थ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट, भगवती इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी व एबीईएसआईटी गाजियाबाद, कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, रूडकी, देवभूमि ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट व तुलास ग्रुप, देहरादून, नीम्स, जयपुर, गीता ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट, पानीपत, इंस्टीट्यूट ऑफ एयरोनॉटिक्स (शॉ-शिब ग्रुप), भोपाल, केडी डेंटल कॉलेज, मथुरा, मिडिया फिनिशिंग स्कूल, भोपाल सहित प्रमुख कॉलेजों के विशेषज्ञों ने 400 से अधिक कोर्सेस की निशुल्क जानकारी दी।