थोक महंगाई में आई गिरावट, दिसंबर में सूचकांक 3.58 फीसद रहा

0
28

नई दिल्ली। साल 2017 के दिसंबर महीने में थोक मूल्य सूचकांक आधारित (WPI) महंगाई दर में नरमी देखने को मिली है। दिसंबर महीने में डब्ल्यूपीआई महंगाई दर घटकर 3.58 फीसद के स्तर पर आ गई। नवंबर महीने में यह 3.93 फीसद रही थी।

मैन्युफैक्चरिंग प्रोडक्ट डब्ल्यूपीआई 2.61 फीसद के स्तर पर बरकरार रही है। दिसंबर महीने में खाद्य थोक महंगाई दर 4.10 फीसद से घटकर 2.91 फीसद रही है। इसके अलावा थोक महंगाई दर 3.93 फीसद से घटकर 3.58 फीसद रही है। वहीं सब्जियों से जुड़ी महंगाई दर 59.80 फीसद से घटकर 56.46 फीसद रही है।

महंगाई 16 महीने की ऊंचाई पर, महंगी सब्जियों का दिखा असर
महंगाई के मोर्चे पर एक बार फिर से राहत की खबर नहीं आई है। दिसंबर महीने में सीपीआई इन्फ्लेशन 5.21 फीसद रही है जो कि नवंबर महीने में 4.88 फीसद रही थी।

साल 2017 के आखिरी महीने में सीपीआई महंगाई के 5.12 फीसद पर रहने का अनुमान लगाया गया था। फ्यूल एवं बिजली क्षेत्र से जुड़ी महंगाई दर 7.9 फीसद पर बरकरार रही है जबकि सब्जियों की महंगाई 22.48 फीसद से बढ़कर 29.13 फीसद रही है।

कपड़ा और फुटवेयर सेक्टर की ग्रोथ 4.96 फीसद से बढ़कर 4.9 फीसद रही, जबकि खाद्य महंगाई 4.42 फीसद से बढ़कर 4.96 फीसद रही है। महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में शहरी इलाकों की महंगाई दर 7.36 फीसदी से बढ़कर 8.25 फीसदी रही है।

महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में दालों की महंगाई दर -23.53 फीसदी के मुकाबले -23.47 फीसदी रही है। दिसंबर में सब्जियों की महंगाई दर 22.48 फीसदी से बढ़कर 29.13 फीसदी पर रही है। हालांकि फ्यूल, बिजली की महंगाई दर में किसी कोई बदलाव नहीं हुआ है।

महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में फ्यूल, बिजली की महंगाई दर में 7.9 फीसदी पर बरकरार रही है। महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में कपड़ों और जूतों की महंगाई दर 4.96 फीसदी से घटकर 4.8 फीसदी रही है।