पूजा पर प्रतिबंध को लेकर बूंदी शहर तीसरे दिन भी बंद रहा

0
34

बूंदी। मानधाता छतरी पर पूजा पर प्रतिबंध को लेकर बूंदी शहर तीसरे दिन भी बंद रहा। हालांकि बुधवार को उपद्रव थम गए, गुस्से का पारा भी नहीं दिखा। मंथन मंत्रणा के दौर दिनभर जारी रहे। पर देर रात तक कोई भी प्रयास नतीजे तक नहीं पहुंचा। ऐसे में गुरुवार को भी बूंदी बंद रहने के आसार हैं।

प्रशासन किसी भी सूरत में 5 जनवरी को तिल चौथ के मेले से पहले सुलह चाहता है। मेले में 1 से डेढ़ लाख श्रद्धालु पहुंचते हैं, ऐसे हालत में प्रशासन कोई रिस्क नहीं लेना चाहता। यही वजह रही कि बुधवार को प्रशासनिक पुलिस अधिकारियों के तेवर नरम पड़ गए। लोगों को दुकानें खोलने के लिए समझाया जाता रहा, वार्ताओं के दौर चलते रहे पर कोई नतीजा सामने नहीं आया।

प्रशासन को सूझ नहीं रहा कि सर्वसम्मति हल के लिए किससे बात किया जाए। जिसकी बात सब मान जाए और बाजार खुल जाए। दिन में बार बार एसपी, कलेक्टर बाजारों में घूम- घूम कर व्यापारियों को दुकानें खोलने और सुरक्षा का भरोसा दिलाते रहे।

व्यापार संगठनों के प्रतिनिधियों को भी साथ लिया पर दुकानदारों ने हर बार यही जवाब दिया कि सुलह का एक ही रास्ता है छतरी पर दीपक जलवा दो। दिया नहीं जलेगा तब तक बाजार भी नहीं खुलेंगे। दुकानदारों का यह भी कहना था कि एक और पुलिस लोगों पर डंडे बरसा रही है, उन्हें हिरासत में ले रही है।

वहीं दुकानें खोलने पर सुरक्षा की बात कह रही हैं, पर वह खुद हालात पर काबू नहीं पा रही, ऐसे में दुकानें खोलने पर हमारी सुरक्षा की गारंटी क्या है? बाजार की ग्राहकी ग्रामीण अंचलों के लोगों पर टिकी है, धारा 144 लगाकर ग्रामीणों को शहर में नहीं आने दिया जा रहा हैं।

नाराज लोगों ने की विधायक के खिलाफ नारेबाजी
विधायक अशोक डोगरा भी बाजार खोलने की अपील करने पहुंचे लेकिन उन्हें लोगों का जमकर विरोध झेलना पड़ा। उनके विरोध में लोगों को जमकर नारेबाजी की। नारेबाजी बढ़ते देख विधायक वापस कार में बैठकर उल्टे पांव लौट गए। 

आज खुलेगी मंडी
तीनदिन बंद रही कुंवारती मंडी गुरुवार को खुली रहेगी। तीन दिन से परेशान हो रहे किसानों के माल की तुलाई होगी। हालांकि नया माल नहीं लिया जाएगा। शुक्रवार को चौथ माता का मेला देखते हुए मंडी में अवकाश रहेगा।

पूजा करने से कोई नहीं रोक सकता : ओम बिरला
बूंदी में चल रहे तनावपूर्ण हालात के बीच सांसद ओम बिरला ने बुधवार को एक बयान देकर प्रशासन को चेतावनी दी है। सांसद ने कहा कि जनता की भावनाओं का आदर करना चाहिए। पूजा करना जनता का अधिकार है, इससे किसी को नहीं रोका जा सकता।