डेंगू कर रहा गंजा, डॉक्टर बोले-प्रोटीन लें, तेजी से उगेंगे बाल

0
39

कोटा। इस साल डेंगू के तांडव ने अब एक और नई समस्या के साथ दस्तक दी है। जिन मरीजों को डेंगू हुआ था, अब उनके तेजी से बाल झड़ रहे हैं। कई लोग पूरी तरह गंजे होने की स्थिति में आ गए। पिछले करीब एक माह में ही शहर के प्रमुख त्वचा रोग विशेषज्ञों के पास ऐसे 1 हजार से ज्यादा केस चुके हैं।

हालांकि डॉक्टरों का कहना है कि इस स्थिति से ज्यादा पेनिक होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह काफी कॉमन दिक्कत है। बाल एक बार पूरी झड़ेंगे और नए सिरे से उग आएंगे। यह एक साइकिल है, जो स्वतः पूरी होगी।

मेडिकल कॉलेज के नए अस्पताल के स्किन आउटडोर में ही रोजाना 10 से 20 मरीज ऐसे पहुंच रहे हैं। बालों के गुच्छे उतरते देख जब डॉक्टर मरीज से हिस्ट्री लेते हैं तो जवाब मिलता है कि डेंगू हुआ था, उसकी वजह से कुछ दिन अस्पताल में भी भर्ती रहे और ठीक हो गए।

गौरतलब है कि इस बार अगस्त से अक्टूबर तक डेंगू ने जमकर तांडव मचाया था। हजारों लोग डेंगू का शिकार हुए थे और संभाग में डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों को जान गंवानी पड़ी थी।

घबराएं नहीं, खुद उगेंगे नए बाल
डॉक्टरों ने बताया कि इस बीमारी में घबराने की कोई जरूरत नहीं है। साथ ही बेवजह किसी तरह के तेल या शैंपू लगाने की भी आवश्यकता नहीं है। सिर्फ इतना ध्यान रखें कि प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में लें। हाई प्रोटीन डाइट में जैसे-चना, सोयाबीन, मूंग, दालें, ड्राइ फ्रूट, पनीर या अंडा आदि लें। इस तरह की डाइट से तेजी के साथ फिर से बाल उगेंगे।

मेडिकल साइंस में इस बीमारी को टीलोयन इफ्लुएम कहते हैं। त्वचा रोग विशेषज्ञों के मुताबिक, जब भी शरीर किसी गंभीर बीमारी से लड़ता है तो पूरा न्यूट्रीशियन उस तरफ डायवर्ट हो जाता है। डेंगू में ऐसा ही हुआ। 

ऐसी स्थिति में बाल, नाखून दांतों को पोषण मिलना कम हो गया। बाल पूरी तरह प्रोटीन पर निर्भर होते हैं। लंबे समय तक पर्याप्त पोषण नहीं मिलने से यह झड़ना शुरू हो जाते हैं। सामान्यतः ऐसा डेंगू के 2 से 3 माह बाद होता है। अभी जो केस रहे हैं, ये डेंगू सीजन के शुरुआती केस हो सकते हैं। आने वाले दिनों में यह समस्या और बढ़ेगी।

हाई प्रोटीन डाइट लें 
पिछले करीब एक माह में 50-60 पेशेंट तो मैं खुद देख चुका। कुछ लड़कियां तो गंजी होने जैसी स्थिति में थी और बालों के गुच्छे लेकर मेरे पास गई। सभी को समझने की जरूरत है कि इसमें घबराएं नहीं और हाई प्रोटीन डाइट लें।
-डॉ. अक्षय जैन, असिस्टेंट प्रोफेसर, स्किन डिपार्टमेंट, मेडिकल कॉलेज