वर्ष 2017 में आईसीआईसीआई बैंक की 10 अद्वितीय पहल

0
428

1. आईसीआईसीआई बैंक ने ग्रामीण ग्राहकों के लिए लांच किया ‘मेरा आईमोबाइल‘ भारत का पहला मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन
आईसीआईसीआई बैंक ने अपने ग्रामीण ग्राहकों के लिए एक अद्वितीय मोबाइल बैंकिंग एप्प लांच की ताकि उन्हें बैंकिंग सेवाएं सरलता से मिल सकें और साथ ही साथ कृषि सेवाओं की सूचना भी प्राप्त हो सके। कोई भी जिनमें गैर आईसीआईसीआई बैंक ग्राहक हो वह इस एप्प को डाउनलोड कर सकता है, जो कि 11 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।

जैसा कि इसका नाम ‘मेरा आईमोबाइल‘ नाम रखा गया है, यह ग्रामीण क्षेत्र के यूजर्स को उनके मोबाइल पर कम से कम 135 सेवाएं प्रदान करता है इनमें से कुछ तो इस उद्योग के लिए अभूतपूर्व कही जा सकती हैं, इससे उनके अपनी किसी सेवा का लाभ लेने हेतु बैंक की ब्रांच तक जाने का मूल्यवान समय बचता है।

इसके अलावा यह पहली बैंकिंग एप्प है जिस पर खेती सम्बन्धित सूचनाए जैसे फसल वार मंडी के भाव जिसकें करीब 230 फसल किस्म के देश की 460 मंडियों के नवीतम भाव उपलब्ध होते हैं। यह एप्प तालुका वार मौसम की जानकारी, किसानों को अपनी कटाई-बुवाई गतिविधियां सुविधापूर्ण तरीके से नियोजित करने के बारे में जानकारी एक सूचित तरीके से प्राप्त होती हैं।

2. आईसीआईसीआई बैंक ने अपने नेट बैंकिंग प्लेटफॉर्म के साथ ‘डिजीलॉकर‘ सुविधा को एकीकृत किया
आईसीआईसीआई बैंक ने अपने रिटेल बैंकिंग प्लेटफॉर्म को ‘डिजीलॉकर‘ से एकीकृत करने की घोषणा की, यह पहल इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय(एमईआईटीवॉय) भारत सरकार की थी। डिजीलॉकर डिजीटल प्रमाणपत्र जारी करने, सत्यापन करने एवं डिजीटल प्रमाणपत्रों को क्लाउड पर भण्डारित करने के लिए एक ऑनलाइन उत्तरदायी प्लेटफॉर्म है।

3. आईसीआईसीआई ग्रुप ने 100 ‘आईसीआईसीआई डिजीटल विलेजेज‘ राष्ट्र का समर्पित किए
आईसीआईसीआई ग्रुप ने 100 ‘आईसीआईसीआई डिजीटल विलेजेज‘ राष्ट्र को समर्पित किए यह बैंक का राष्ट की प्रगति एवं सशक्त ग्रामीण भारत के प्रति एक प्रयास था।

इन डिजीटल विलेजेज के उद्घाटन के बाद बैंक की प्रतिबद्धता रही कि वह 100 गांवों को कुछ दिनों के भीतर ‘आईसीआईसीआई डिजीटल विलेजेज‘ के रूप में बदले। इस कार्यक्रम के तहत लेनदेनएवं अन्य वाणिज्यि गतिविधियां का का शुरू से अन्त तक डिजीटाइजेशन, ग्रामीणों को व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करना, उनकी ऋण सुविधाओं का विस्तार तथा ग्रामीणों की बाजार तक पहुंच बनाना ताकि उन्हें स्थाई आजीविका के संसाधन उपलब्ध हो सकें।

4. आईसीआईसीआई बैंक ने एटीएम के माध्यम से तत्काल व्यक्तिगत ऋण सुविधा पेश की
इस सुविधा से बैंक के मौजूदा वेतन भोगी ग्राहक और समर्थ हो सकेंगे और उन्हें प्री-क्वालिफाइड पर्सनल लोन उनके बचत खातों में तत्काल मिल सकेगा, और वह भी पूरी तरह से डिजीटल एवं कागज रहित तरीके के साथ।

यह सुविधा ग्राहकों के अनुभव को और बढ़ाएगी क्यों कि इसमें अनेक सुविधाओं की पेशकशें हैं आसान चरणों में तेजी से आवेदन 15 लाख रुपए तक के ऋण के लिए कई पात्र ऋण राशि विकल्प जो कि उनकी पूर्व में सिबिल जांच पर आधारित होंगे तथा तत्काल इस ऋण राशि को ग्राहक के खाते में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

5. आईसीआईसीआई बैंक ने पेश किया इन्सटेंट क्रेडिट कार्ड
भारतीय बैंकिंग उद्योग में अपनी तरह की यह पहली पेशकश है जो बैंक के बचत खाता धारकों को तत्काल एक क्रेडिट कार्ड उपलब्ध करवाती है, वह भी पूरी तरह से डिजीटल एवं कागज रहित तरीके के साथ।

इस नई पेशकश से कुछ लाख प्री-क्वालिफाइड ग्राहकों को तत्काल क्रेडिट कार्ड नम्बर तथा अन्य महत्वपूर्ण विवरण ऑनलाइन प्रदान किए, जिनका प्रयोग करते हुए महिला/पुरुष ग्राहक ऑनलाइन शॉपिंग शुरू कर सकते हैं, वह भी बिना किसी प्रतीक्षा अथवा भौतिक कार्ड पहुंचने से पूर्व।

यह सेवा साल के सभी दिन चौबीसों घंटे उपलब्ध है, कोई भी ग्राहक तत्काल क्रेडिट कार्ड प्राप्त कर सकता है वह भी 4 लाख रुपए की क्रेडिट लिमिट के साथ जो कि ब्यूरो स्कोर की पूर्व में की गई जांच पर आधारित है।

6. आईसीआईसीआई बैंक ने लांच किया ‘कैश बैक‘ आवासीय ऋण
आईसीआईसीआई बैंक ने एक नए आवासीय ऋण की घोषणा की है, जो कि ऋणी को प्रत्येक मासिक किस्त (ईएमआई) पर 1 प्रतिशत कैशबैक, पूरे ऋण की अवधि के दौरान दिया जाएगा। इस उद्योग में यह एक अनूठी पेशकश है, यह न्यूनतम 15 वर्ष के आवासीय ऋण पर उपलब्ध है।

इस नए आवासीय ऋण से ऋणी कैशबैक की अपने पसंदीदा ढंग से चुन सकता है। वह इस कैशबैक राशि को चाहे तो अपने आवासीय ऋण बकाया मूल राशि में जमा करवा सकता है या फिर इसे अपने आईसीआईसीआई बैंक खाते में समायोजित करवा सकता है। इसके लिए प्रवासी और अप्रवासी भारतीय ग्राहक कैशबैक आवासीय ऋण आवेदन के पात्र माने गए हैं।

7. आईसीआईसीआई बैंक भारतीय सैन्य बलों को 10 करोड़ रु. देने को संकल्पबद्ध
आईसीआईसीआई बैंक भारतीय सैन्य बलों को 10 करोड़ रु. की वित्तीय सहायता देने के प्रति संकल्पबद्ध है। यह योगदान दो समान भागों में दिया जाएगा।

इस वर्ष और अगले वर्ष, इस राशि का उपयोग उन पूर्व सैनिकों के परिवारों के कल्याण और बेहतरी के लिए किया जाएगा जो की देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए हों।

आईसीआईसीआई बैंक की प्रबन्ध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी मिस चंदा कोचर ने 5 करोड़ रुपए का चेक माननीय रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतरमण को रक्षा मंत्रालय में आयोजित एक समारोह में भेंट किया।

8. आईसीआईसीआई बैंक ने अपने मनी2इण्डिया एप्लीकेशन पर वॉयस बेस्ड इंटरनेशनल रेमिटेंस सेवा लांच की
आईसीआईसीआई बैंक ने भारत का पहली आवाज आधारित अंतर्राष्ट्रीय धन प्रेषण सुविधा लांच करने की घोषणा की जिससे अप्रवासी भारतीय (एनआरआईज) भारत के किसी भी बैंक में घन प्रेषण कर सकते हैं।

आईसीआईसीआई बैंक की मनी2इण्डिया एप्प में इस नई सुविधा के बाद कोई भी एनआरआई ग्राहक तत्काल भारत में रहने वाले/वाली अपने किसी परिचित या रिश्तेदार को केवल एप्पल के वर्च्युअल वॉयस एसिस्टेन्ट सीरी को अपने एप्पल आईफोन/आईपैड पर वॉयस कमाण्ड से पैसे भेज सकता है।

सीमा पार सेवा प्रदान करने वाली अपनी तरह की यह पहली सेवा बैंक ने देश में उपलब्ध करवाई है, इससे ग्राहक की सुविधा में महत्वपूर्ण रूप से सुधार आएगा, क्यों कि इससे पूर्व में इस प्रकार धन प्रेषण के लिए पांच कदम उठाने की प्रक्रिया को अपनाना पड़ता था, जिसके बाद ही भारत तक शीघ्र पैसा भेजा जा सकता था इस सुविधा के बाद यह प्रक्रिया और भी सरल हो गई है।

9. तत्काल अल्पावधि डिजीटल ऋण के लिए पेटीएम और आईसीआइसीआई बैंक का गठबंधन
भारत के सबसे बड़े भुगतान प्लेटफॉर्म पेटीएम ने आईसीआईसीआई बैंक से भागीदारी की है, यह बैंक समेकित परिसम्पदा की दृष्टि से निजी क्षेत्र में भारत के शीर्ष बैंक है, ने सयुंक्त रूप से पेटीएम-आईसीआईसीआई बैंक पोस्टपेड लांच किया है, जो ब्याज मुक्त अल्पावधि ऋण तक पहुंचने का सबसे निर्बाध तरीका है।

इस नई पेशकश से लाखों पेटीएम ग्राहक पहली बार प्रतिदिन उपयोग जिसमें फिल्म के टिकट से लेकर फ्लाइट्स एवं सामान आदि शामिल है, के लिए तत्काल ऋण प्राप्त कर सकेंगे।

यह ग्राहक के क्रेडिट स्कोर पर आधारित है, इसमें बैंक 45 दिन की ब्याज मुक्त क्रेडिट लिमिट प्रदान कर रहा है। यह ऋण राशि 3,000 रुपए से लेकर 10,000 रुपए तक है, जिसे ग्राहक के पुनर्भुतान के इतिहास को देख कर 20,000 रुपए तक बढ़ाया जा सकता है। पेटीएम-आईसीआईसीआई बैंक पोस्टपेड ग्राहक को पेटीएम पासकोड के द्वारा तुरंत चेकआउट की पेशकश भी दे रहा है।

10. आईसीआईसीआई बैंक ने देश की पहली तत्काल पब्लिक प्रॉविडेण्ड फण्ड (पीपीएफ) खाता सुविधा पेश की
आईसीआईसीआई बैंक ने एक डिजीटल सेवा शुरू करने की घोषणा की है जिससे ग्राहक अपने पब्लिक प्रॉविडेण्ड फण्ड (पीपीएफ) खाते तत्काल खोल सकेंगे और वह भी पूरी तरह कम्प्यूटरीकृत और कागज रहित तरीके से।

इस नई सुविधा के साथ बैंक के ग्राहकों को अपनी बैंक शाखा में जाने की आवश्यकता नहीं होगी और न ही किसी प्रकार के भौतिक दस्तावेज पीपीएफ खाता खोलने के लिए प्रस्तुत करने होंगे। अब वे सुविधापूर्ण तरीके से अपना एक पीपीएफ खाता किसी भी समय, कही पर भी बैंक के इंटरनेट व मोबाइल बैंकिंग डिजीटल चैनल्स के माध्यम से खोल सकेंगे।