किसानों को नहीं मिल रहे आलू के दाम, सड़क पर फेंकने को मजबूर

0
30

87% तक गि‍री कीमतें, कोटा और जयपुर में आलू रिटेल में 8 रुपये किलो

नई दि‍ल्‍ली/जयपुर / कोटा । देश में इन दि‍नों आलू के भाव जमीन पर आए हुए हैं। इससे उपभोक्‍ताओं को तो सस्‍ते रेट पर आलू मि‍ल जा रहा है मगर कि‍सानों की लागत भी नहीं नि‍कल रही है। दि‍ल्‍ली में आलू का फुटकर रेट 10 रुपए तक आ गया है।

जयपुर और कोटा में फुटकर रेट आठ रुपए और थोक में पंकज रुपए किलो बिक रहा है। यूपी में सड़कों कि‍नारे टनों आलू फेंका जा रहा है। कि‍सानों के लि‍ए हालात कि‍तने खराब हो गए हैं, इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि‍ पि‍छले साल इसी सप्‍ताह के मुकाबले आलू के थोक भाव में 86 % तक की गि‍रावट आ गई है। आगरा की मंडी में पि‍छले साल के मुकाबले आलू का औसत थोक रेट 86.95% कम है।

महाराष्‍ट्र की नासि‍क मंडी में पि‍छले साल इसी दौरान आलू का थोक रेट 2607 रुपए प्रति‍ क्‍विंटल था, जो अब 576 रुपए है। यानी रेट में 77.88% की गि‍रावट आई है। दि‍ल्‍ली में आलू के फुटकर रेट इस समय 15 रुपए के आसपास हैं। थोक रेट प्रति‍ क्‍विंटल 550 रुपए (सप्‍ताह का औसत) चल रहा है। वहीं पंजाब में फुटकर रेट 10 रुपए प्रति‍ कि‍लो तक गि‍र गए हैं। ये रेट भी अच्‍छे आलू के मि‍ल रहे हैं, जो आलू थोड़ा लो स्‍टैंडर्ड है उसके रेट तो और नीचे आ गए हैं।  

आलू के फुटकर रेट – 22 दि‍संबर
राज्‍य                 रेट प्रति‍ कि‍लो
दि‍ल्‍ली               17 रुपए
चंडीगढ़             12 रुपए
शि‍मला              10 रुपए
आगरा                 8 रुपए
मुंबई                 18 रुपए
जयपुर                 8 रुपए
कोटा                  8 रुपए
स्रोत – डि‍पार्टमेंट ऑफ कंज्‍यूमर अफेयर्स

आगरा की मंडी में भी आवक पि‍छले साल के मुकाबले काफी बढ़ गई। देशभर की मंडि‍यों में ऐसे ही हालत हैं, जि‍सकी वजह से रेट कम हो गए हैं। इस बार कि‍सानों ने आलू का अच्‍छा प्रोडक्‍शन कि‍या, मगर दाम इतने नीचे गि‍र गए कि‍ लागत तक नहीं नि‍कल पा रही है।

आवक बढ़ने से गि‍रे दाम
मंडि‍यों में आलू की आवक बढ़ जाने की वजह से आलू की कीमतें नीचे आ गई हैं। यूपी की फतेहाबाद मंडी में नवंबर की आवक वर्ष 2016 के मुकाबले 3752.79 फीसदी ज्‍यादा रही। वहीं दि‍संबर के महीने की आवक देखें तो पि‍छले साल के मुकाबले यह 937 फीसदी ज्‍यादा रही। आगरा की मंडी में भी आवक पि‍छले साल के मुकाबले काफी बढ़ गई। देशभर की मंडि‍यों में ऐसे ही हालत हैं, जि‍सकी वजह से रेट कम हो गए हैं। इस बार कि‍सानों ने आलू का अच्‍छा प्रोडक्‍शन कि‍या, मगर दाम इतने नीचे गि‍र गए कि‍ लागत तक नहीं नि‍कल पा रही है।

मुफ्त में ले जाएं आलू
यूपी के कि‍सान बी डी सिंह ने बताया, ‘जब तक आलू कि‍साने के घर में नहीं आता तब तक तो उसके रेट ठीक रहते हैं मगर जैसी ही कि‍सान के दरवाजे पर आलू आना शुरू हो जाता है रेट नीचे आ जाते हैं। इस बार प्रदेश के आलू कि‍सानों की हालत बहुत खराब है। लोग कोल्‍ड स्‍टोर से अपनी फसल नहीं उठा रहे। मंडी के हालात तो आप जान ही रहे हैं। आगरा में आप मुफ्त में आलू पा सकते हैं। आलू को कोल्‍ड स्‍टोर में रखने का आम रेट 115 रुपए प्रति‍ बोरी है। एक बोरी में 50 कि‍लो आलू आता है। आलू के एक कट्टे का रेट इस समय 150 रुपए तक गि‍र गया है। ऐसे में कि‍सान कोल्‍ड स्‍टोर में रखा हुआ आलू उठा ही नहीं रहे हैं, जि‍सकी वजह से कोल्‍ड स्‍टोर वाले इन्‍हें सड़कों पर फेंक रहे हैं।‘