कोलाना हवाई पट्टी : बड़े एयरक्राफ्ट-एयरबस भी उतरेंगी

1
62

झालावाड़। कोलाना हवाई पट्टी के विस्तारीकरण का काम किस तरह से होगा इसके लिए कंसल्टेंट ने अपनी फाइनल रिपोर्ट सौंप दी है। इस रिपोर्ट पर उच्चाधिकारियों द्वारा फैसला लिया जाएगा। उसके बाद यहां पर काम शुरू हो जाएगा।
कोलाना हवाई पट्टी के विस्तारीकरण की प्रक्रिया काफी तेजी से चल रही है।

इसी के लिए नवंबर माह में इसके लिए नया डिविजन खोला गया। उसके बाद अब कंसल्टेंट से फाइनल रिपोर्ट ली जा चुकी है। विस्तारीकरण में 169 करोड़ रुपए खर्च होंगे। अभी कोलाना हवाई पट्टी का रन-वे 1700 मीटर है। इसको 3 हजार मीटर किया जाना है।

कंसल्टेंट की रिपोर्ट में बताया गया है कि इसमें लार्जेस्ट एयरक्राफ्ट, एयरबस भी उतारी जा सकेगी। अभी भी संभाग में यह सबसे लंबी हवाई पट्टी है। इसके लिए कंसल्टेंट संगीता एविएशन सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड को नियुक्त किया गया था। करीब चार माह तक स्टडी के बाद यह रिपोर्ट तैयार हो पाई है।

आधुनिक तकनीक से बनेगा: कोलाना हवाई पट्टी के विस्तारीकरण की डिजाइन भी फाइनल हो चुकी है। इसके तहत इसका टर्मिनल पिरामिड के आकार का बनेगा जो विश्व स्तरीय इमारत के रूप में देखा जा सकता है। सीएम की मंशा थी कि कोलाना हवाई पट्टी की यूनिक डिजाइन बने।

इसी को लेकर कैप्टन आकाश अग्रवाल ने इसको पिरामिड के आकार में डिजाइन किया है। इसकी डिजाइन इस हिसाब से बनाई गई है कि इसको भविष्य में कभी भी कहीं भी बढ़ाया जा सकेगा। यहां सभी आधुनिक तकनीक लोगों को देखने को मिलेंगी।