करंट में झुलसे विष्णु का हाथ कटा, अब इलाज के लिए पैसे नही

0
40

कोटा। बसन्त विहार में एक मेडिकल शॉप पर फ्लेक्स का काम करते समय विष्णु विजयवर्गीय (27) अचानक करंट की चपेट में आकर बुरी तरह झुलस गया। बाद में एक निजी हॉस्पिटल में उसे भर्ती किया,जहां एक सप्ताह पूर्व डॉक्टर्स को उसका जला हुआ दायां हाथ भी काटना पड़ा। बडे भाई सुरेश विजय ने बताया कि विष्णु साधारण परिवार से है। केशवपुरा में रहते हुए वह 10 वर्षों से फ्लेक्स लगाने का काम करता था।

12 दिसम्बर को वह बसन्त विहार स्थित एक मेडिकल शॉप पर फ्लेक्स लगा रहा था, अचानक उसे बिजली का करंट लगा, जिससे उसका एक हाथ जल गया और गर्दन, कंधे व पीठ की चमड़ी भी झुलस गई। दर्द से कराहते हुए लोगों ने उसे तुरन्त हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां 4 दिन वह आईसीयू में भर्ती रहा।

डॉक्टर्स की हड़ताल के कारण उसे सुधा हॉस्पिटल में भर्ती कराया। बाद में उसे जयपुर के डॉक्टर्स को दिखाया लेकिन वहां भी संक्रमण से बचने के लिए हाथ कटवाने की सलाह दी।

परिवार में पत्नी निशा व ढाई वर्ष का बेटा है। उसके भाई ने पैसे उधार लेकर इलाज करवाया लेकिन निजी अस्पताल में 1 लाख से अधिक राशि खर्च हो जाने से परिवार के सामने आर्थिक परेशानियां खड़ी हो गई। पत्नी निशा विजय ने बताया कि पति को अस्पताल से डिस्चार्ज करवाने के लिए भी राशि नही है।

अब घर का खर्च चलाना भी मुश्किल हो रहा है। कोचिंग शिक्षक निशान्त पोरवाल ने सूचना मिलते ही इलाज में 10 हजार रुपये की मदद की। भाई ने बताया कि अब वह दुपहिया वाहन भी नही चला सकेगा। डॉक्टर्स की हड़ताल से उस पर दोहरी आर्थिक मार भी पड़ी है।