26 हजार करोड़ के प्रॉजेक्ट में 5 लाख नौकरियां

0
31

भारत के सबसे बड़े कन्वेंशन सेंटर के निर्माण के लिए कतार में वैश्विक कंपनियां

नई दिल्ली। भारत के सबसे बड़े कन्वेंशन सेंटर (सम्मेलन स्थल) के निर्माण का ठेका लेने के लिए देश की बड़ी कंपनियों L&T व रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ सैमसंग कंस्ट्रक्शन और चीन कंस्ट्रक्शन जैसी करीब 15 वैश्विक कंपनियां होड़ में हैं।

26 हजार करोड़ रुपये के इंटरनैशनल कन्वेंशन ऐंड एक्सपो सेंटर (ICC) प्रॉजेक्ट को कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद सरकार ने इंजिनियरिंग, प्रॉक्युर्मन्ट, कंस्ट्रक्शन (EPC) मोड में 8 दिसंबर तक प्रस्ताव आमंत्रित किए हैं।

EPC कॉन्ट्रैक्ट इस साल दिसंबर अंत तक फाइनल कर लिया जाएगा। इसमें एक्सिबिशन सह कन्वेंशन सेंटर और इंटरनल रोड नेटवर्क सिस्टम के साथ अंडरग्राउंड कार पार्किंग सुविधा का विकास शामिल है।

पहले फेज की शुरुआत जनवरी 2018 में होगी और इसे दिसंबर 2019 तक पूरा कर लिया जाएगा।  नाम सार्वजनिक ना करने की शर्त पर एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा, ‘कन्वेंशन और एक्सिबिशन सुविधा को अनुभवी वैश्विक कंपनियां ऑपरेट और मैनेज करेंगी।

यह साइज और क्वॉलिटी के मामले में दुनिया के सबसे अच्छे कन्वेंशन सेंटर्स की बराबरी करेगा।’ जर्मनी, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया, हॉन्ग-कॉन्ग और दुबई की कई इंटरनैशनल एक्सिबिशन ऑर्गनाइजर्स ने IICC को ऑपरेट करने में दिलचस्पी दिखाई है।

भारत के ट्रेड और कॉमर्स के विकास को दिखाने के लिए IICC को इंटरनैशनल ब्रैंड बनाने का प्लान बनाया है। इसका इस्तेमाल राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम, बहुपक्षीय सम्मेलन, व्यापार मेला, सम्मेलन और सभा के लिए किया जाएगा। यह 89.72 हेक्टेयर जमीन पर दिल्ली के द्वारका में बनाया जाएगा।

होटल्स, रिटेल स्पेस और ऑफिस पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मोड में होंगे। सरकार को उम्मीद है पहले फेज के बाद यहां करीब 1 करोड़ और 2025 में फेज-2 पूरा होने के बाद 2.3 करोड़ लोग पहुंचेंगे। प्रॉजेक्ट से करीब 5 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियां मिलेंगी।