जीडीपी आंकड़ों से तय होगी इस हफ्ते बाजार की चाल

0
21

नई दिल्ली। पिछले हफ्ते बाजार लगातार पांच दिन ऊंचाई लेकर बंद होने में कामयाब रहा। लेकिन बाजार विशेषज्ञों का मानना है कि इस सप्ताह घरेलू शेयर बाजारों की दशा व दिशा सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) और पीएमआई के आंकड़ों पर निर्भर करेगी।

साथ ही स्टेंडर्ड एंड पुअर्स (एसएंडपी) के फैसले का असर भी शुरू में देखने को मिल सकता है। बीते सप्ताह बॉम्बे स्टॉक (बीएसई) का सेंसेक्स 336 अंक चढ़ा। जबकि निफ्टी 106 अंक मजबूत हुआ।

जियोजित फाइनेंसियल सर्विसेज के अनुसंधान प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि घरेलू बुनियाद बेहतर है तथा एसएंडपी द्वारा सकारात्मक रेटिंग से विदेशी निवेशकों की धारणा और सुधरेगी। रेटिंग में कोई उन्नयन नहीं होने से भारतीय रुपये की शुरुआत कमजोर हो सकती है जिसका फौरी असर शेयर बाजार के प्रदर्शन पर पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि स्टेंडर्ड एंड पुअर्स ने शुक्रवार को भारत के लिए सरकारी रेटिंग को स्थिर परिदृश्य के साथ बीबीबी माइनस पर अपरिवर्तित रखा। बीबीबी रेटिंग निवेश जोखिम के सबसे निचले दर्जे से एक पायदान ऊपर है। 

एचडीएफसी सिक्यूरिटीज में प्रमुख प्राइवेट क्लाइंट ग्रुप वी. के.शर्मा ने कहा कि शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद एसएंडपी ने भारत की रेटिंग को उसी स्तर पर रखने की घोषणा की। यह छोटा झटका है। अगर रेटिंग में सुधार होता तो बेहतर होता।

सोमवार को थोड़ा झटका लग सकता है लेकिन इससे बाजार की दिशा नहीं बदलेगी जो कि ऊंचाई की ओर जा रहा है। हालांकि, मुख्य आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल ने रेटिंग में कोई बदलाव नहीं किए जाने को थोड़ा अनुचित करार दिया और कहा निम्न प्रति व्यक्ति आय कर्ज चुकाने की हमारी इच्छा या क्षमता को परिलक्षित नहीं करती है।

रिजर्व बैंक के फैसले पर भी नजर
साम्को सिक्यूरिटीज के संस्थापक जिमीत मोदी ने कहा कि आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक तथा अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक सहित कई घटनाएं हैं जो बाजार के रुख को प्रभावित कर सकती हैं।  

उन्होंने कहा कि तापमान में गिरावट तथा चुनावी सरगर्मी जोर पकड़ने के बीच बाजार किसी सार्थक दिशा में बढ़ने से पहले थोड़ा विराम लेगा। कोटक सिक्यूरिटीज के उपाध्यक्ष पीसीजी रिसर्च संजय जोरबड़े ने कहा कि प्रधानमंत्री के गृह राज्य गुजरात में विधानसभा चुनाव के परिणाम बाजार के लिए बहुत महत्वपूर्ण होंगे।