स्टार्टअप को प्रमोट करने के लिए 10 लाख रुपए देगी आईआईटी कानपुर

0
41

सिडबी इनोवेशन एंड इनक्यूबेशन सेंटर का प्रोग्राम निधि प्रयास लाॅन्च

कोटा।अब आईआईटी में जाने वाले स्टूडेंट्स को प्लेसमेंट के साथ-साथ स्टार्टअप को प्रमोट करने के लिए भी अच्छी खासी राशि मिलेगी।

आईआईटी कानपुर के सिडबी इनोवेशन एंड इनक्यूबेशन सेंटर का निधि प्रयास प्रोग्राम लॉन्च किया गया है। इस प्रोग्राम के तहत एक स्टार्टअप के प्रमोशन के लिए 10 लाख रुपए तक की मदद दी जाएगी।

इसके साथ ही बिजनेस आइडिया देने पर भी 10 लाख रुपए तक की मदद आईआईटी कानपुर करेगा। यह राशि स्टार्टअप शुरू करने से पहले ही दे दी जाएगी।

इसके साथ आईआईटी की चार लाॅन्च लैब के साथ ही अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर भी दिया जाएगा। इससे वह अपने स्टार्टअप को और भी बेहतर तरीके से तैयार कर पाएंगे।

यह होगी पात्रता
आवेदनकरने वाले की उम्र 18 साल से अधिक होनी चाहिए। अगर स्टार्टअप शुरू हो चुका है, तो उसकी अवधि 2 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए। कंपनी के पास अधिक राजस्व नहीं होना चाहिए।

अगर स्टार्टअप टीम के साथ है तो किसी एक व्यक्ति को आवेदन के लिए अधिकृत करना होगा। अधिक जानकारी के लिए आईआईटी कानपुर के सिडबी इनोवेशन एंड इनक्यूबेशन सेंटर भी संपर्क किया जा सकता है। 29 नवंबर तक इसके लिए आवेदन किया जा सकता है।

ये आईआईटी भी कर रही प्रमोशन
आईआईटीमुंबई, दिल्ली, खड़गपुर, मद्रास रुड़की भी स्टार्टअप को प्रमोट कर रही है। पुरानी आईआईटी अपने इनक्यूबेशन सेंटर्स का विस्तार कर रही है। हालांकि नई आईआईटी का फोकस फिलहाल प्लेसमेंट की ओर ही है।

आईआईटी के प्लेसमेंट में गिरते पैकेज को देखते हुए अब स्टार्टअप पर ध्यान दिया जा रहा है। वहीं, मेक इन इंडिया और डिजिटल इंडिया के तहत भी स्टार्टअप को प्रमोशन मिल रहा है।

इनसे जुड़ा होना चाहिए आइडिया
हैल्थकेयर, एनर्जी, क्लीन टेक, एग्रीकल्चर, मैन्यूफैक्चरिंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, वॉटर आदि क्षेत्रों से जुड़े बिजनेस आइडिया को राशि आवंटित की जा सकेगी। सॉफ्टवेयर बेस्ड और प्योर एकेडमिक प्रोजेक्ट्स को राशि देने पर विचार नहीं किया जाएगा।

कोटा के स्टार्टअप का देश में नाम
कोटा के कई स्टार्टअप भी सफल हुए हैं। इनमें लॉन्ड्री सर्विस सुपरधोबी, टिफिन सर्विस मिस्टर हॉट, मेडकॉर्ड्स शामिल हैं। ये सभी स्टार्टअप आईआईटी पासआउट युवकों ने लॉन्च किया है।