आर्थिक सुधारों पर जेटली ने किया यशवंत सिन्हा पर वार

0
26

नई दिल्ली। वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज द्वारा भारत की रेटिंग सुधारे जाने पर मोदी सरकार गदगद है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि यूं तो भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास का आधार लगातार मजबूत होने के सबूत मिलते रहे हैं, लेकिन वैश्विक रेटिंग्स एजेंसी की ओर से इसे औपचारिक मान्यता मिलना काफी उत्साहवर्धक है।

इसके साथ ही, जेटली ने मूडीज रेटिंग अपग्रेड का हवाले से इशारों-इशारों में पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा पर भी निशाना साधा। मीडिया को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री जेटली ने कहा कि मूडीज ने वित्तीय अनुशासन की दिशा में उठाए गए हमारे कदमों की प्रशंसा की है।

जेटली ने कहा, ‘आज सुबह 13 वर्षों के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था को मूडीज का रेटिंग अपग्रेड मिला है। इसमें वित्तीय अनुशासन को मूडीज के बयान में महत्वपूर्ण जगह दी गई है।’ नोटबंदी समेत सुधारवादी कदमों की एक पूरी सीरीज जो भारतीय अर्थव्यवस्था को ज्यादा औपचारिकता और डिजिटाइजेशन प्रदान कर रही है। इस तथ्य को वैश्विक स्तर पर मान्यता मिल रही है।

जेटली ने कहा कि मूडीज के आकलन में इन्सॉल्वंसी ऐंड बैंकरप्ट्सी कोड, सरकारी बैंकों के रीकैपिटलाइजेशन, जीएसटी के सहजता से लागू होने आदि पर गौर किया गया। उन्होंने कहा कि ये सारे कदम एक बड़े सुधार के तहत उठाए गए हैं और इन सबका कोई न कोई उद्देश्य है। वित्त मंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इन्हें मान्यता मिलना काफी उत्साहवर्धक है। इससे हमें अपने रिफॉर्म एजेंडे को जारी रखने का हौसला मिलेगा।

जेटली ने कहा कि हालांकि मूडीज की ओर से रेटिंग में सुधार भारती अर्थव्यवस्था के विकास की कोई अलहदा कहानी नहीं है। मोदी सरकार के सत्ता संभालने के बाद से वर्ल्ड बैंक की ईज ऑफ डुइंग बिजनस में भारत 42 पायदान चढ़ा है। उन्होंने मोदी सरकार के आर्थिक सुधारों की आलोचना करनेवालों पर भी निशाना साधा।

जेटली ने कहा, ‘जिनके दिमाग में भारत की सुधार प्रक्रिया को लेकर संदेह है, वे अब खुद ही अपना गंभीर आकलन करेंगे।’ गौरतलब है कि अमेरिकी रेटिंग्स एजेंसी मूडीज ने शुक्रवार को भारत की रेटिंग सुधारकर Baa3 से Baa2 कर दिया है। साथ ही इसने इन्वेस्टर रेटिंग को भी सकारात्मक से स्थिर कर दिया।