Wipro ने 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

0
116

नई दिल्ली। देश की तीसरी दिग्गज आईटी कंपनी विप्रो से 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की खबर आ रही है। खबरों के मुताबिक कर्मचारियों को इससे पहले इस तरह की कोई जानकारी नहीं दी गई थी।

कर्मचारियों की संख्‍या 2 हजार भी हो सकती है। बेंगलुरु स्थित इस कंपनी में पिछले साल दिसंबर तक 1.79 लाख्‍ा कर्मचारी थे।सेक्टर में जॉब की दिक्कतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। विप्रो से पहले ग्लोबल आईटी कंपनी काग्निजेंट से भारी मात्रा में छटनी की खबर सामने आईं थी।

आईटी सेक्टर में जॉब जाने के मुख्य कारण यूएस में एच1बी वीजा के नियमों में सख्ती को माना जा रहा है। यूएस के अलावा भी जॉब के लिहाज से बड़े बाजार सिंगापुर, यूके, ऑस्ट्रेलिया में भी भारतीय इंजीनियरों को जॉब पाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।ग्लोबल मार्केट में गहराते इस संकट के साथ साथ आटोमेशन भी आईटी सेक्टर में जॉब जाने की एक बड़ी वजह है।