SBI ने घटाईं ब्याज दरें, लोन लेना हुआ सस्ता

0
32

नई दिल्ली। देश के सार्वजनिक क्षेत्र के दिग्गज बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने बेंचमार्क लेंडिंग रेट्स में पांच बेसिस प्वाइंट (0.05 फीसद) की कटौती कर दी है। यह कटौती 10 महीनों में पहली बार की गई है।

एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार एक साल के कर्ज पर सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) 7.95 फीसद पर आ गया है। पहले यह आठ फीसद था। यह नई दरें एक नवंबर से लागू हो रही है।

एक दिन के लिए कर्ज पर एमसीएलआर घटकर 7.70 फीसद हो गई है जो पहले 7.75 फीसद थी। तीन वर्ष की अवधि के कर्ज पर यह अब 8.10 फीसद हो गई है जो पहले 8.15 फीसद थी।

जानकारी के लिए बता दें कि इस दौरान इलाहाबाद बैंक ने भी एमसीएलआर में 0.15 फीसद की कटौती का एलान कर दिया है। देश में नोटबंदी लागू होने के बाद जनवरी में अधिकांश बैंकों ने एमसीएलआर में कटौती की थी।

जनवरी के बाद से एसबीआई अब फिर से एमसीएलआर घटाई है। एसबीआई के नये चेयरमैन रजनीश कुमार के पद संभालने के करीब एक हफ्ते बाद यह कटौती की गई है। एसबीआई के इस फैसले के बाद दूसरे बैंक भी अनुसरण कर सकते हैं।

एसबीआई के इस कदम से बैंक से कर्ज लेने वाले नये ग्राहकों को तुरंत फायदा मिलना शुरू हो जाएगा। लेकिन जिन ग्राहकों ने पहले से कर्ज लिया हुआ है उनको थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है।

ऐसा इलसिए क्योंकि कर्ज की पहले से निर्धारित की गई दरें निश्चित अवधि के मान्य होगी। अवधि पूरा होने के बाद अपने आप उनके लिए कर्ज की दर में कमी आ जाएगी।

एसबीआई की और से एमसीएलआर में कटौती के बाद कामकाजी महिलाओं को अब 30 लाख रुपये तक का लोन 8.30 फीसद की दर पर मिलेगा। जबकि 30 लाख से 75 लाख रुपये तक के लोन पर 8.40 फीसद की दर से ब्याज लिया जाएगा।

वहीं, दूसरी ओर गैर कामकाजी महिलाओं को 30 लाख रुपये तक का लोन 8.40 फीसद और 30 से 75 लाख रुपये तक के लोन पर 8.50 फीसद की दर से ब्याज लिया जाएगा।