आधार नामांकन या अपडेशन फॉर्म पर अब बैंक स्टाफ का होगा बायॉमीट्रिक साइन

0
37

नई दिल्ली। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीआईए) जल्द ही आधार नामांकन और अपडेशन फॉर्म को लेकर बड़ा बदलाव करने जा रहा है।

इसके तहत बैंकों, डाकघरों और सरकारी कार्यालयों के अधिकृत कर्मचारियों को इन आवेदनों पर बायॉमीट्रिक साइन करना होगा। इस प्रक्रिया के तहत सुरक्षा चिंताओं को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है।

बायॉमीट्रिक साइन होने से आगे संबंधित अधिकारी आधार नामांकन और अपडेशन फॉर्म की तस्दीक कर सकेंगे। गौरतलब है कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि आधार के लिए आवेदन को इन जगहों से भी शुरू किया जा सके।

आधार जारी करने वाली संस्था यूआईडीआईए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भूषण पांडे ने बताया कि इस कदम का उद्देश्य बायॉमीट्रिक और अन्य सूचनाओं के कलेक्शन के बारे में सुरक्षा चिंताओं को दूर करना है।

इससे पहले यूआईडीआईए ने राज्यों से निजी एजेंसियों द्वारा किए जा रहे नामांकन को सरकारी या नगरपालिका के परिसर में स्थानातंरित करने के लिए कहा था। अब तक आधार नामांकन का पूरा काम बाहरी निजी परिसरों में होता आ रहा है।

इतना ही नहीं, यूआईडीआईए ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के साथ-साथ निजी बैंकों को 10 शाखाओं में से कम से कम एक में आधार नामांकन सेवा शुरू करने के निर्देश दिए थे।

पांडे ने कहा, ‘इस प्रणाली से बैंकों, डाकघरों तथा सरकारी परिसरों में नामांकन और अपडेशन की प्रक्रिया बडे़ पैमाने पर की जा सकेगी। इसके अलावा नामांकन के दौरान बैंकों, डाकघरों या सरकार के अधिकृत कर्मचारी आधार नामांकन और अपडेशन आवेदन की तस्दीक बायॉमीट्रिक हस्ताक्षर से कर सकेंगे।’

सुरक्षा और देखरेख की अतिरिक्त सुविधा के लिए यह नई प्रणाली लाई जाएगी। प्रस्तावित व्यवस्था के 1 जनवरी से शुरू होने की संभावना है। नई व्यवस्था के तहत बायॉमीट्रिक साइन करने के लिए एक कर्मचारी निर्धारित होगा।

अब तक डेटा कलेक्शन प्राइवेट ऑपरेटर द्वारा किया जा रहा है और फॉर्म की जांच सरकार द्वारा नियुक्त जांचकर्ता करता है। लेकिन अब संबंधित अधिकारी के बायॉमीट्रिक हस्ताक्षर से डेटा कलेक्शन की पूरी प्रक्रिया ज्यादा सुरक्षित हो जाएगी।

पांडे ने बताया कि पहले प्राइवेट ऑपरेटर (भले ही वह प्रमाणित ऑपरेटर हो) आवेदन पर हस्ताक्षर करता था पर अब उस पर किसी सरकारी, बैंक या पोस्ट ऑफिस के अधिकारी का बायॉमीट्रिक्स के द्वारा काउंटर साइन होगा।