आधार कार्ड के लिए टेलिकॉम कंपनियां का यूजर्स पर दवाब

    0
    49

    नई दिल्ली/कोटा । टेलिकॉम कंपनियां मोबाइल यूजर्स पर आधार कार्ड लिंक कराने के लिए लगातार दबाव बना रहीं हैं। यूजर्स को कंपनियों की तरफ से आधार लिंक न कराने पर कनेक्शन तक काटने की धमकी दी जा रही है। एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया समेत अन्य टेलिकॉम कंपनियों के यूजर्स को लगातार आधार लिंक कराने की सलाह देने वाले मेसेज और कॉल्स किए जा रहे हैं।

    इन कॉल्स और मेसेजे में टेलिकॉम डिपार्टमेंट के एक निर्देश का हवाला दिया जा रहा है। यूजर्स को बताया जा रहा है कि टेलिकॉम डिपार्टमेंट का यह निर्देश सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश के बाद आया है जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने सभी टेलिकॉम यूजर्स के कनेक्शंस को दोबारा से वेरिफाइ से करने को कहा है।

    बता दें कि टेलिकॉम डिपार्टमेंट ने सुप्रीम कोर्ट के ऑब्जर्वेशन का हवाला देकर यह निर्देश जारी किया है। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक अंतरिम आदेश में कहा था कि आधार कार्ड बनवाना अनिवार्य नहीं किया जा सकता है।

    जिस तरह से मोबाइल आधार लिंक कराने के लिए इन कंपनियों की तरफ से दवाब बनाया जा रहा है उससे यूजर्स के बीच भारी नाराजगी देखी जा रही है। लोगों का कहना है कि कंपनियां नंबर बंद करने की धमकी देकर तुरंत आधार लिकं करवाने को कह रहीं हैं, जबकि टेलिकॉम डिपार्टमेंट ने इसके लिए फरवरी 2018 तक की समयसीमा तय की है।

    आधार लिंक करवाने का प्रोसेस भी काफी मुश्किल भरा है, कई बार सर्विस सेंटर्स पर लगी बायोमैट्रिक मशीन भी काम नहीं करती और यूजर्स को दोबारा सर्विस आना पड़ता है। सेना से रिटायर हुए 90 वर्षीय कृष्ण लाल दुबे कहते हैं, ‘मेरा फिंगरप्रिंट ठीक से मशीन पर काम नहीं करता है, अब मुझे बार-बार इसी काम के लिए बुलाया जा रहा है।

    मैं बार-बार सर्विस सेंटर जाने में सक्षम नहीं हूं। मेरे लिए फोन रखना काफी जरूरी है क्योंकि मैं अकेला रहता हूं। आधार लिंक कराने के लिए अच्छी तरह से कदम नहीं उठाए गए।’ एक और यूजर का कहना है कि यह एक बड़ी समस्या है। छोटे कस्बों और गांवों में रहने वाले लोगों के लिए सबसे ज्यादा दिक्कत है। ये लोग बार-बार सर्विस सेंटर नहीं जा सकते हैं।

    टेलिकॉम सचिव अरुणा सुंदरराजन ने इस मुद्दे पर संपर्क किए जाने पर कहा, ‘सरकार को यूजर्स को रही इन परेशानियों की जानकारी मिली है, हमने टेलिकॉम कंपनियों और आधार का काम देखने वाली यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया के साथ बैठक की है। हम इस समस्या का समाधान निकाले की कोशिश कर रहे हैं।

    हम इसे पूरा करने के लिए दिन-रात मेहनत कर रहे हैं।’ वोडाफोन ने इसका बचाव करते हुए कहा कि हमारे यूजर्स की संख्या इतनी ज्यादा है कि अगर वेरिफिकेशन प्रोसेस इसी स्तर पर तेजी से जारी नहीं रखा गया तो अंतिम दिनों में हमारे लिए सभी यूजर्स का आधार वेरिफिकेशन मुश्किल हो जाएगा।