इस दिवाली पर ज्यादा महंगा नहीं होगा सोना

0
49

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) और एएमएल नियमों के अमल में आने से लोगों की खरीदारी का पैटर्न बदला है, इनसे धनतेरस से ज्यादा शादी-ब्याह के लिए की जाने वाली सोने की खरीदारी प्रभावित होगी

नई दिल्ली। वर्ल्डगोल्ड काउंसिल (डब्ल्यूजीसी) का मानना है कि इस बार दिवाली पर सोने के दाम ज्यादा नहीं बढ़ेंगे। इसकी वजह नोटबंदी, जीएसटी और एंटी मनी लॉन्ड्रिंग (एएमएल) नियमों का लागू होना है।

डब्ल्यूजीसी के एमडी सोमसुंदरम पीआर ने कहा कि इस बार दिवाली पर अलग तरह की चुनौतियां हैं। गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) और एएमएल नियमों के अमल में आने से लोगों की खरीदारी का पैटर्न बदला है। इनसे धनतेरस से ज्यादा शादी-ब्याह के लिए की जाने वाली सोने की खरीदारी प्रभावित होगी।

सोमसुंदरम ने कहा कि पिछले साल दिवाली नाेटबंदी से पहले पड़ी थी। साथ ही तीन साल बाद देश में मॉनसून बेहतर रहने से सोने की अच्छी मांग देखने को मिली थी। लेकिन जेम्स एंड ज्वैलरी उद्योग को प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत लाने से नियमों के पालन की अनिवार्यता बढ़ी है।

650 से 750 टन सोने का आयात संभव
डब्ल्यूजीसी के मुताबिक इस कैलेंडर वर्ष में देश में सोने का आयात 650 से 750 टन के बीच रहने का अनुमान है। पिछले साल सोने का आयात घटकर 676 टन रहा था। यह 2015 में हुए 857 टन सोने के आयात से 21% कम है।