पिज्जा, कोल्डड्रिंक्स पर बढ़ेगा जीएसटी, सिगरेट-शराब पर अतिरिक्त सेस

0
89
  • वित्त मंत्रालय को हाई फैट और शुगर वाले आइटम पर जीएसटी बढ़ाने और अधिक सेस लगाने के लिए कहा है

  • ऐसी वस्तुओं पर केंद्र सरकार जीएसटी की दर को बढ़ाकर के 28 फीसदी और अतिरिक्त सेस लगा सकती है

नई दिल्ली। आपके मनपंसद पिज्जा, बर्गर, समोसा, कोल्डड्रिंक और सिगरेट-शराब जल्द ही महंगे होने वाले हैं। केंद्र सरकार इनको इसलिए महंगा करने जा रही है, क्योंकि इन पदार्थों के ज्यादा सेवन करने से होने वाली बीमारियों पर सबसे अधिक खर्चा होता। 

इससे बचने के लिए केंद्र सरकार ने मल्टी मिनिस्ट्री प्लान तैयार किया है। केंद्र सरकार का मकसद लोगों की सेहत को सुधारने का है, लेकिन इसके लिए जो प्रावधान तय किए गए हैं, उनसे ऐसे लोगों की जेब पर भी सबसे ज्यादा असर पड़ेगा जो इनका सेवन करते हैं।

योजना के अनुसार वित्त मंत्रालय को हाई फैट और शुगर वाले आइटम पर जीएसटी बढ़ाने और अधिक सेस लगाने के लिए कहा है। जल्द ही ऐसी वस्तुओं पर केंद्र सरकार जीएसटी की दर को बढ़ाकर के 28 फीसदी और अतिरिक्त सेस लगाने की घोषणा कर सकती है। 

स्कूल-कालेज-यूनिवर्सिटी में नहीं मिलेगा समोसा, पैटीज
अब स्कूल कालेज की कैंटीन में समोसा और पैटीज नहीं मिलेगी। केंद्र सरकार ने एचआरडी मिनिस्ट्री से कहा है कि वो जल्द ही पूरे देश के हरेक स्कूल, कालेज और यूनिवर्सिटी की कैंटीन और इनके आसपास 500 मीटर की परिधि में आने वाली की दुकानों पर समोसा सहित अन्य जंक फूड के बनाने और बेचने पर रोक लगाए। 

तंबाकू और शराब पर बढ़ेगी इंपोर्ट ड्यूटी
सरकार का प्लान है कि वो तंबाकू और शराब पर जल्द ही इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ा देगी।  वाणिज्य मंत्रालय को जंक फूड, तंबाकू और शराब पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने के अलावा स्पेशल इकनॉमिक जोन की सुविधा को रोकने पर जोर देने के लिए कहा गया है।