एलन के 6 क्लासरूम स्टूडेंट्स ने हासिल की Jee Mains में आल इंडिया रैंक-1

0
97

टॉप-100 में एलन के 43 स्टूडेंट्स शामिल

कोटा। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा बुधवार को देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा Jee Mains की आल इंडिया रैंक व Jee Mains सेशन-4 का परिणाम जारी कर दिया। जेईई-मेन के चारों सेशन के सम्मिलित परिणामों के आधार पर जारी की गई आल इंडिया रैंक में एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स ने एक बार फिर श्रेष्ठता साबित की है।

एलन के निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि 18 स्टूडेंट्स को रैंक-1 घोषित किया गया, इसमें 6 स्टूडेंट्स एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के क्लासरूम कोचिंग से है। इसमें अंशुल वर्मा, सिद्धान्त मुखर्जी, मृदुल गोयल, काव्या चौपड़ा, पुलकित गोयल और गुराम्रित सिंह शामिल हैं। इन्होंने अलग-अलग Jee Mains सेशन में 300 में से 300 अंक प्राप्त किए। टॉप 10 में आल इंडिया रैंक-7 पर जैनिथ मल्होत्रा, रैंक-8 पर प्रथम गर्ग तथा रैंक 10 पर अनन्त किदाम्बी ने स्थान हासिल किया। इसके साथ ही टॉप-100 में एलन के 43 स्टूडेंट्स शामिल हैं, जिसमें से 33 क्लासरूम कोचिंग से है तथा 10 दूरस्थ शिक्षा से एलन से जुड़े हैं।

माहेश्वरी ने कहा कि कोविड की विपरीत परिस्थितियों के बावजूद स्टूडेंट्स श्रेष्ठ परिणाम दिए हैं। एलन ने लॉकडाउन के दौरान भी स्टूडेंट्स की पढ़ाई बाधित नहीं होने दी। एलन स्टूडेंट्स ने कई स्टेट्स में टॉप किया है तथा कई ने 100 पर्सेन्टाइल स्कोर किया है, जिसके परिणाम देखे जा रहे हैं।

एडवांस्ड की कटऑफ
रिजल्ट में शीर्ष 2.50 लाख विद्यार्थियों को जेईई-मेन के आधार पर एडवांस्ड देने के लिए पात्र घोषित किया गया, जिसमें सामान्य श्रेणी की 87.8992241, ईडब्ल्यूएस की 66.2214845, ओबीसी की 68.0234447, एससी की 46.8825338, एसटी की 34.6728999 कटऑफ एनटीए स्कोर पर्सेन्टाइल रही। सामान्य श्रेणी के लगभग 1,01,250, सामान्य ईडब्ल्यूएस के 25 हजार, ओबीसी के 67500, एससी के 37500 तथा एसटी के 18750 विद्यार्थी शामिल हैं।

9 लाख 39008 विद्यार्थियों ने दी परीक्षा
जेईई मेन चौथे सेशन की परीक्षा देश के 334 शहरों के 925 परीक्षा केन्द्रों पर संपन्न हुई। इस वर्ष चार सेशन में 26 शिफ्टों में जेईई-मेन परीक्षा आयोजित की गई। इसमें 10 लाख 48 हजार 12 यूनिक कैंडिडेट पंजीकृत थे, इनमें से 9 लाख 39008 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए। चारों सेशन में हुई परीक्षा में 2 लाख 52 हजार 954 विद्यार्थी ऐसे थे, जिन्होंने चारों परीक्षाएं दी। पहले सेशन की परीक्षा में 6 लाख 210033, दूसरे सेशन में 5 लाख 56248, तीसरे सेशन में 5 लाख 43553 विद्यार्थी एवं चौथे व अंतिम सेशन में 4 लाख 81419 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। चारों सेशन की परीक्षाओं में 6 लाख 58 हजार 939 छात्र एवं 2 लाख 80 हजार 67 छात्राएं परीक्षा में शामिल हुई, 2 ट्रांसजेंडर विद्यार्थियों ने परीक्षा दी।

सपने पूरे करता है कोटा : सिद्धांत मुखर्जी
आल इंडिया रैंक – 1
जेईई मेन फरवरी – 100 पर्सेन्टाइल

सिद्धान्त मुखर्जी ने जेईई-मेन में आल इंडिया रैंक 1 प्राप्त की है। इससे पूर्व जेईई-मेन फरवरी में 100 पर्सेन्टाइल के साथ-साथ 300 में से 300 अंक प्राप्त किए हैं। सिद्धान्त ने बताया कि दो साल से एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट में पढ़ रहा हूं। मैं आईआईटीयन बनने का सपना लेकर वर्ष 2019 में 11वीं कक्षा में कोटा आया था। पूरे देश के स्टूडेंट्स यहां आते हैं इसलिए पढ़ाई के लिए बेस्ट पीयर ग्रुप मिलता है। मैंने जेईई मेन की तैयारी के लिए एनसीईआरटी पर गहराई से फोकस किया। सबसे ज्यादा एक्यूरेसी पर ध्यान दिया। एलन में कॉम्पिटिशन अच्छा है और टीचिंग मैथड परफेक्ट है। आईआईटी मुम्बई से कम्प्यूटर साइंस से बीटेक करने के बाद सीएस फील्ड में इनोवेटिव इंडिया में अपना योगदान देना चाहता हूं। हाल ही में कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी से भी पढ़ाई के लिए मुझे ऑफर लेटर प्राप्त हुआ है।

आईआईटी मुम्बई से कम्प्यूटर साइंस पढ़ना है लक्ष्य : काव्या चौपड़ा
जेईई-मेन आल इंडिया रैंक -1
जेईई मेन मार्च : 300/300 व 100 पर्सेन्टाइल


काव्या चौपड़ा ने जेईई-मेन में आल इंडिया रैंक 01 प्राप्त की है। इससे पूर्व जेईई-मेन मार्च में 100 पर्सेन्टाइल के साथ-साथ 300 में से 300 अंक प्राप्त किए हैं। काव्या आईआईटी मुमबई से कम्प्यूटर साइंस में बीटेक करना चाहती है। काव्या पहली छात्रा है जिसने जेईई मेन परीक्षा में पूरे में से पूरे अंक हासिल किए हैं। काव्या ने बताया कि मैंने फरवरी अटैम्प्ट में 99.97 पर्सेन्टाइल स्कोर किए थे लेकिन मेरा टारगेट 100 पर्सेन्टाइल स्कोर का था, इसलिए मैंने जेईई मेन मार्च अटैम्प्ट दिया। मैं रोजाना 7-8 घंटे सेल्फ स्टडी करती हूं और तीनों सब्जेक्ट्स को बराबर समय देती हूं। कोटा जैसा माहौल, बेस्ट पीयर ग्रुप और कम्पीटिशन देश में कहीं नहीं है, इसलिए मैंने जेईई की तैयारी के लिए कोटा आने का निर्णय लिया। मैथ्स और फिजिक्स पसंद है इसलिए जेईई में जाना तय किया।

रोजाना टारगेट लेकर पढ़ाई करता हूंः मृदुल अग्रवाल
जेईई-मेन आल इंडिया रैंक – 1
जेईई-मेन फरवरी- 300 में से 300 व 100 पर्सेन्टाइल


जेईई मेन में आल इंडिया रैंक 1 प्राप्त करने वाले मृदुल अग्रवाल ने फरवरी जेईई-मेन के बाद मार्च में भी 100 पर्सेन्टाइल प्राप्त किया है। मार्च जेईई-मेन में मृदुल ने 300 में से 300 अंक प्राप्त किए। समय का सदुपयोग करने की कोशिश करने वाले मृदुल अग्रवाल ने कहा कि मैं पिछले तीन साल से एलन में पढ़ रहा हूं। 100 पर्सेन्टाइल को लेकर कोशिश की थी, जो सफल रही। मैं रोजाना का टारगेट लेकर पढ़ाई करता हूं और उस दिन वो टॉपिक खत्म करके ही सोता हूं, सुबह की भी तैयारी रहती है कि अगले दिन क्या पढ़ाई करनी है। रोजाना 6 से 8 घंटे सेल्फ स्टडी हो जाती है। अब जेईई-एडवांस्ड का टारगेट है और आईआईटी मुम्बई से कम्प्यूटर साइंस की पढ़ाई करना चाहता हूं।

क्रिकेट और चेस खेलने का शौक : अंशुल वर्मा
जेईई-मेन आल इंडिया रैंक – 1
जेईई मेन जुलाई : 100 पर्सेन्टाइल


छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर निवासी अंशुल वर्मा ने जेईई-मेन आल इंडिया रैंक 1 प्राप्त की है। इसके साथ ही जेईई मेन तीसरे सेशन में 300 में से 300 अंक हासिल कर 100 पर्सेन्टाइल स्कोर किए हैं। अंशुल एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के क्लासरूम स्टूडेंट है। अंशुल ने बताया कि मैंने जेईई मेन फरवरी में 99.95 और मार्च अटैम्प्ट में 99.93 पर्सेन्टाइल स्कोर किए थे। मैं दोनों रिजल्ट से संतुष्ट नहीं था। इसलिए मैंने जुलाई में थर्ड अटैम्प्ट दिया, जिसकी तैयारी में मुझे एलन की एक्सपर्ट फैकल्टीज व स्टडी मैटेरियल का काफी सपोर्ट मिला। एनसीईआरटी सिलेबस और जेईई मेन के विशेष टॉपिक्स पर ज्यादा फोकस किया। 10वीं 98.4 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण की और केवीपीवाय एसएक्स में ऑल इंडिया 26वीं रैंक हासिल की थी। रोजाना 10 घंटे पढ़ाई करता हूं और रीक्रिएशन के लिए क्रिकेट खेलने जाता हूं या पापा के साथ चैस खेलता हूं। फिलहाल जेईई एडवांस्ड पर फोकस है। मैं भविष्य में आईआईटी मुम्बई की सीएस ब्रांच से बीटेक करना चाहता हूं।

लॉकडाउन में एलन सपोर्ट से हुआ फायदा : गुराम्रित सिंह
आल इंडिया रैंक – 1
जेईई-मेन फरवरी- 100 पर्सेन्टाइल

जेईई-मेन में एआईआर-1 और फरवरी-सेशन में 100 पर्सेन्टाइल स्कोर करने वाले गुराम्रित सिंह ने बताया कि सुबह के समय दो घंटे फिजिक्स पढ़ता हूं। इसके बाद दो से तीन घंटे कैमेस्ट्री दिन में और रात को मैथ्स पढ़ता हूं। लॉकडाउन के समय कोचिंग नहीं गया तो आने-जाने में जो टाइम बचा उसे भी पढ़ने में काम लिया। लॉकडाउन से फायदा हुआ और फेकल्टीज हर समय डाउट के लिए मिली। एलन की ऑनलाइन क्लासेज टाइम से शुरू होना बहुत लाभदायक रहा। जेईई-एडवांस्ड की तैयारी कर रहा हूं।

मैथ्स फेवरेट, सवाल हल करने में मजा आता है : पुलकित गोयल
जेईई-मेन एआईआर : 1
जेईई-मेन-जुलाई स्कोर : 100 पर्सेन्टाइल


जेईई मेन में ऑल इंडिया 1 रैंक और सेशन-4 में 100 पर्सेन्टाइल प्राप्त पुलकित पंजाब में भटिण्डा के निवासी है। पुलकित ने बताया कि मैं पिछले दो साल से एलन का रेगुलर क्लासरूम स्टूडेंट हूं। मैंने इस वर्ष जेईई मेन फर्स्ट अटैम्प्ट में 99.88, सैकंड अटैम्प्ट में 99.92, थर्ड अटैम्प्ट में 99.99 परसेन्टाइल स्कोर किए थे। इसके अलावा 12वीं कक्षा में 94.8 एवं 10वीं कक्षा में 98.6 प्रतिशत अंक प्राप्त किए थे। एलन में पढ़ाई के लिए बेहतरीन माहौल है, यहां की टीचिंग मैथेडोलॉजी तो बेस्ट है इसके अलावा फैकल्टीज काफी सपोर्टिव है। मैं आईआईटी मुम्बई से सीएस ब्रांच से इंजीनियरिंग करना चाहता हूं।