अनचाही कॉल और एसएमएस के लिए नए नियम लाएगा ट्राई

    0
    49

    वर्ष 2011 में अनचाही कॉल की शिकायतें 28995 थीं जो पिछले वर्ष 2.42 लाख का आंकड़ा पार कर गईं

    नई दिल्ली। अनचाही कॉल और एसएमएस से उपभोक्ताओं को बचाने के लिए दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) नए नियम लाएगा। इस संबंध में उसने गुरुवार को परामर्श पत्र जारी कर सुझाव मांगे हैं।

    ट्राई का मानना है कि पुराने नियम अनचाही कॉल और एसएमएस पर रोक लगाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। ऐसे में नए नियमों की जरूरत है।  

    ट्राई की ओर से जारी किए गए पत्र में लगातार बढ़ रही अनचाही कॉल और एसएमएस पर चिंता जाहिर की गई है। दरअसल छह साल पहले तक यह आंकड़ा हजारों में था जो अब लाखों में पहुंच गया है। वर्ष 2011 में अनचाही कॉल की शिकायतें 28995 थीं जो पिछले वर्ष 2.42 लाख का आंकड़ा पार कर गईं।

    हालांकि वर्ष 2013 में 4.53 लाख से भी ज्यादा शिकायतें इस मसले पर आई थीं। इसके बाद लाए गए नियमों से दो साल तक शिकायतों में कमी आई। वर्ष 2014 में घटकर 1.50 लाख और 2015 में 1.75 लाख हो गईं।

    प्राधिकरण ने विभिन्न स्तरों पर इस मामले में कदम भी उठाए हैं। इसके बावजूद बढ़ते आंकड़ों के मद्देनजर उसने नए नियम लाने का निर्णय लिया। इसके लिए सात सवाल उठाते हुए ट्राई ने विभिन्न हिस्सेदारों से परामर्श मांगा है। उसने सुझाव मांगा है कि रोबो कॉल और साइलेंट कॉल के लिए क्या कदम उठाए जाने चाहिए। 

    ट्राई ने कहा कि मौजूदा नियम उपभोक्ताओं को अनचाही कॉल से बचाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। इसकी वजह बदलती तकनीक में ऑटो कॉल, रोबो कॉल, साइलेंट समेत अन्य तरीके से उपभोक्ताओं तक अनचाही कॉल पहुंचती हैं।

    इसी तरह से एसएमएस भी बड़े पैमाने पर उपभोक्ताओं तक पहुंचते हैं जिसके खिलाफ आने वाली शिकायतों पर कार्रवाई में ज्यादा वक्त लग रहा है। ट्राई इस मामले में 12 अक्तूबर तक सुझाव लेगा और इसके बाद नए नियम तैयार करेगा।