आयात से देसी प्याज के दाम 50% तक गिरे

0
31

थोक बाजार में 25 रुपये किलो बिकने वाले प्याज के दाम गिरकर 8 से 20 रुपये तक पहुंच गए

मुंबई। महज दो सप्ताह पहले तक महंगा प्याज लोगों को रुला रहा था। प्याज की बढ़ती कीमतों को काबू में करने के लिए सरकार ने आयात का सहारा लिया। आयातित प्याज की आवक शुरू होते ही इसके दाम तेजी से गिरने शुरू हो गए।

थोक बाजार में 25 रुपये किलो बिकने वाले प्याज के दाम गिरकर 8 से 20 रुपये तक पहुंच गए। मुंबई के खुदरा बाजार में 50 से 60 रुपये किलो बिकने वाले प्याज के दाम अब गिरकर 20-25 रुपये और दिल्ली में दाम घटकर 30 से 35 रुपये किलो रह गए हैं।
 
प्याज की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने प्याज के आयात को जो हरी झंडी दिखाई थी, इसके परिणाम अब दिखाई देने लगे हैं। निजी कारोबारियों ने मिस्र से 2,500 टन प्याज का आयात किया है, जो घरेलू बाजार में पहुंचना शुरू हो गया।

इसके  बाद भी जरूरत पडऩे पर प्याज का और आयात करने की अनुमति दी जाएगी। प्याज की पहली खेप 2,500 टन मुंबई पहुंच चुकी है और प्याज की दूसरी खेप 9,000 टन जल्द ही पहुंच जाएगी।

सरकार ने निजी कारोबारियों से कहा है कि जरूरत पडऩे पर पड़ोसी देशों से प्याज का और आयात कर सकते हैं। घरेलू बाजार में विदेशी प्याज की आवक की खबर से प्याज के दाम टूटने लगे हैं। एशिया की सबसे बड़ी प्याज मंडी में इसके दाम गिरकर 18 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गए।

लासलगांव मंडी में सोमवार को प्याज की न्यूनतम कीमत 800 रुपये और अधिकतम कीमत 2,003 रुपये प्रति क्विंटल बोली गई। मंडी समिति के लोगों का कहना है कि बारिश थमने के साथ ही आपूर्ति में इजाफा होने से कीमतें गिरी हैं। 
 
थोक बाजार में दाम गिरने का असर खुदरा बाजार पर भी पड़ा। महज दो सप्ताह पहले मुंबई में 50 से 60 रुपये किलो बिकने वाले प्याज के दाम गिरकर 20 से 25 रुपये क्विंटल तक पहुंच गए। दिल्ली में प्याज 30-35 रुपये प्रति किलो बिक रहा।