कोटा स्टोन पर 5% ही लगेगा जीएसटी, कमिश्नर ने किया स्पष्ट

0
296

माहेश्वरी ने एक विशेष भेंट में बताया कि अब कोटा स्टोन का कारोबार फिर से गति पकड़ेगा।

-दिनेश माहेश्वरी
कोटा।  जीएसटी दर को लेकर कोटा स्टोन व्यापारियों की लंबे समय से चली आ रही चिंता सोमवार को वाणिज्यिक कर विभाग के कमिश्नर आलोक गुप्ता के पत्र से समाप्त हो गई है। स्टेट टैक्स कमिश्नर ने कोटा स्टोन पर पांच फीसदी ही जीएसटी लगने की स्थिति स्पष्ट की है।

केवल कोटा स्टोन से बनी हुई टाइल्स पर ही 28 फीसदी जीएसटी लगेगा। इस आदेश के बाद क्षेत्र में वापस कारोबार को गति मिलने की उम्मीद है। देश में गत एक जुलाई से जीएसटी लागू होने के साथ ही क्षेत्र में कोटा स्टोन पर टैक्स स्लैब को लेकर असमंजस की स्थिति बनी रही।

इसके चलते जुलाई में पहले तीन दिन काम ठप रहा। तब पांच फीसदी जीएसटी लगने से काम शुरू हुआ था कि वापस 28 फीसदी जीएसटी का शगुफा सामने आ गया। इससे कारोबार बूरी तरह चरमरा गया।

व्यापारियों में यह असमंजस था कि रफ पर पांच फीसदी और पॉलिश कोटा स्टोन पर 28 फीसदी जीएसटी लगेगा। यदि यहां से ट्रक भरकर पत्थर भेज दिया और उसे पाॅलिस में मान लिया तो पैनल्टी कौन भुगतेगा। कोटा स्टोन पर जीएसटी की स्थिति यह थी कि न तो अधिकारी क्लियर कर पा रहे थे ।

ऐसे में कोटा व्यापार महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी के नेतृत्व में कोटा स्टोन उद्यमी और कोटा स्टोन स्मॉल स्केल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन रामगंजमंडी के पदाधिकारी व गत दिनों मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कोटा प्रवास के दौरान उनसे मिले। तब राजे ने भी व्यापारियों की पीड़ा समझते हुए काेटा स्टोन पर पांच फीसदी ही जीएसटी की बात कही थी।

माहेश्वरी ने हमारे चैनल LEN DEN NEWS को एक विशेष भेंट में बताया कि अब सरकार की और से स्पष्टीकरण आने के बाद कोटा स्टोन का कारोबार फिर से गति पकड़ेगा। देखिए महासंघ के महासचिव माहेश्वरी का साक्षात्कार का यह वीडियो –