म्यूचुअल फंड ने शेयर मार्केट में अब तक लगाए 40 हजार करोड़

0
31

नयी दिल्ली। म्यूचुअल फंड प्रबंधकों ने चालू वित्त वर्ष के दौरान अप्रैल-जुलाई अवधि में 40,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश शेयर बाजारों में किया। शेयर बाजारों में म्यूचुअल फंड निवेश में वृद्धि का कारण खुदरा निवेशकों की मजबूत भागीदारी है।

वहीं दूसरी तरफ विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने आलोच्य अवधि के दौरान 21,000 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे। फंड्स इंडिया डाट कॉम की म्यूचुअल फंड शोध प्रमुख विद्या बाला ने कहा, हम निवेश में बदलाव देख रहे हैं।

यह इक्विटी की तरफ बढ़ रहा है क्योंकि रीयल एस्टेट तथा सोने में निवेश की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। इसके अलावा, घरेलू पूंजी प्रवाह भी दीर्घकालीन निवेश पर ध्यान दे रहा है। साथ ही वे खुदरा निवेशकों से मजबूत प्रवाह से उत्साहित हैं।

बजाज कैपिटल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी राहुल पारेख ने कहा, शेयर बाजारों में तेजी का कारण इक्विटी में मजबूत पूंजी प्रवाह है। इसके अलावा जीएसटी के सफल क्रियान्वयन से भी सकारात्मक प्रभाव पड़ा है।

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड सेबी के आंकड़ों के अनुसार म्यूचुअल फंड प्रबंधकों ने चालू वित्त वर्ष के अप्रैल-जुलाई के दौरान 30,264 करोड़ रुपये निवेश किये।

मासिक आधार पर देखा जाए तो कोष प्रबंधकों ने अप्रैल में शेयर बाजारों में 11,244 करोड़ रुपये, मई में 9,358 करोड़ रुपये तथा जून में 9,106 करोड़ रुपये तथा जुलाई में 11,800 करोड़ रुपये के निवेश किये।

यह प्रवाह बाजार में तेजी के अनुरूप है। चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीने में बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स करीब 10 प्रतिशत मजबूत हुआ। फिलहाल म्यूचुअल फंड उद्योग की प्रबंधन अधीन सम्पत्ति करीब 20 लाख करोड़ रुपये है।