सॉफ्टबैंक ने फ्लिपकार्ट को दिया सहारा, $2.5 अरब का निवेश

0
39

टेक्नॉलोजी और ई-कॉमर्स स्केल के लिहाज से भारत लीडर बनने का दम रखता है। फ्लिपकार्ट के संस्थापकों सचिन और बिन्नी ने कहा।

बेंगलुरु। देश की सबसे कीमती स्टार्टअप फ्लिपकार्ट में दुनिया के सबसे बड़े टेक्नॉलजी फंड सॉफ्टबैंक विजन फंड ने 2.5 अरब डॉलर का निवेश किया है। देश के कंज्यूमर टेक्नॉलजी सेक्टर में यह सबसे बड़ा निवेश है।

जापान के सॉफ्टबैंक के पास अब भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन कंपनी के 25 पर्सेंट शेयर होंगे, जो अभी अमेरिका के ऐमजॉन से यहां मुकाबला कर रही है। फ्लिपकार्ट के संस्थापकों सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने कहा, ‘यह फ्लिपकार्ट और भारत के लिए ऐतिहासिक डील है।’

उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि टेक्नॉलोजी और ई-कॉमर्स स्केल के लिहाज से भारत लीडर बनने का दम रखता है। सॉफ्टबैंक कंपनी में कुछ शेयर सीधे तो कुछ मौजूदा शेयरहोल्डर्स से खरीदेगा। इस सौदे से टाइगर ग्लोबल को कुछ हिस्सेदारी बेचने का मौका मिलेगा।

न्यूयॉर्क की यह इन्वेस्टमेंट कंपनी अब तक फ्लिपकार्ट की सबसे बड़ी शेयरहोल्डर थी। सॉफ्टबैंक के साथ डील की खबर रखने वाले तीन सूत्रों ने यह जानकारी दी है। इस सौदे में कंपनी की कीमत 7-8 अरब डॉलर लगाई गई है।

सूत्रों ने बताया कि कंपनी के दोनों संस्थापक और इसमें सबसे पहले निवेश करने वाले वेंचर फंड एक्सेल पार्टनर्स भी सॉफ्टबैंक को कुछ हिस्सेदारी बेचेंगे। एक सूत्र ने कहा, ‘दोनों संस्थापक अपनी कुछ शेयरहोल्डिंग बेच रहे हैं।’

आईआईटी दिल्ली के क्लासमेट्स सचिन और बिन्नी बंसल ने 2007 में ऑनलाइन किताबें बेचने की शुरुआत इस कंपनी से की थी। एक दशक में उन्होंने फ्लिपकार्ट को सफलता के इस मुकाम तक पहुंचाया।

अप्रैल 2017 में कंपनी ने ईबे, चीन की टेनसेंट और माइक्रोसॉफ्ट से 1.4 अरब डॉलर का फंड जुटाया था, तब इसकी वैल्यू 11.6 अरब डॉलर लगाई गई थी।

सचिन और बिन्नी बंसल ने एक बयान में कहा, ‘हम सॉफ्टबैंक विजन फंड को पार्टनर बनाकर खुश हैं। हम सभी भारतीयों की जरूरतों को पूरा करने के लिए अपने बिजनस को बढ़ा रहे हैं। हम देश में अगले फेज के टेक्नॉलजी अडॉप्टेशन में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं।’

इससे दो सप्ताह पहले स्नैपडील को खरीदने की बातचीत फ्लिपकार्ट के साथ टूट गई थी। सॉफ्टबैंक के संस्थापक मासायोशी सन ने एक स्टेटमेंट में कहा, ‘हम इनोवेटिव कंपनियों को सपॉर्ट करना चाहते हैं, जो भारत में विजयी बनें। ये ‘इस डील के साथ सॉफ्टबैंक का भारत में कुल निवेश 6 अरब डॉलर से अधिक हो जाएगा।