5 लाख व्यवसायियों ने चुनी कंपोजीशन स्कीम

0
101

नई दिल्ली । पांच लाख व्यवसायियों ने जीएसटी कर व्यवस्था के अंतर्गत कंपोजीशन विकल्प को चुना है, जो उन्हें रियायती दर पर करों का भुगतान करने की अनुमति देता है और अनुपालन को आसान बनाता है। यह जानकारी सरकार ने दी है।

25 जुलाई तक करीब 71 लाख एक्साइज, सर्विस और वैट करदाता जीएसटी नेटवर्क (जीएसटीएन) पर माइग्रेट हो चुके हैं, जबकि 12 लाख नए रजिस्ट्रेशन भी जीएसटी कर व्यवस्था के अंतर्गत हो चुके हैं।

राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने बताया, “जीएसटी के अंतर्गत कंपोजीशन स्कीम का चयन करने वालों का आंकड़ा 30 जुलाई तक 5.12 लाख हो चुका है। इस विकल्प को चुनने की आखिरी तारीख 16 अगस्त है।”

कंपोजीशन स्कीम को चुनने के लिए क्या करना होगा
कंपोजीशन स्कीम को अपनाने के लिए टैक्सपेयर को जीएसटी पोर्टल (www.gst.gov.in) पर अपने अकाउंट में लॉग-इन करना होगा और एप्लीकेशन टू ऑप्ट फॉर द कंपोजीशन स्कीम का विकल्प चुनना होगा, जोकि सर्विस मैन्यु में दिया हुआ होगा। उन्हें इस स्कीम को अपनाने के लिए GST CMP-01 फॉर्म भरना होगा।

इस स्कीम के तहत ट्रेडर्स, मैन्युफैक्चरर और रेस्तरां क्रमश: एक, दो और 5 फीसद का टैक्स भुगतान करेंगे। जो भी बिजनेस कंपोजीशन स्कीम का विकल्प चुनेगा उस पर कंप्लाइंस का बोझ काफी कम होगा क्योंकि उन्हें सिर्फ तिमाही आधार पर एक रिटर्न ही दाखिल करना होगा। जबकि अन्य बिजनेस से जुड़े व्यापारियों को हर महीने एक रिटर्न भरना होगा।