काउंसलिंग : आईआईटी एवं एनआईटी में छठे राउण्ड का सीट आवंटन आज

0
49

छठे राउण्ड में प्रथम बार सीट का आवंटन होगा, उन्हें आवश्यक दस्तावेज के साथ रिपोर्टिंग सेंटर पर रिपोर्ट करना होगा।

कोटा। देश की 23 आईआईटी, 31 एनआईटी, 23 ट्रिपलआईटी एवं 20 जीएफटीआई के लिए आयोजित ज्वाइंट काउंसलिंग के छठे राउण्ड का सीट आवंटन मंगलवार को घोषित किया जाएगा।

एेसे विद्यार्थी जिन्हें छठे राउण्ड में प्रथम बार सीट का आवंटन होगा, उन्हें आवश्यक दस्तावेज के साथ रिपोर्टिंग सेंटर पर रिपोर्ट करना होगा। एेसा नहीं करने पर वो काउंसलिंग से बाहर हो जाएंगे।

सीट आवंटन रिपोर्टिंग की अंतिम तिथि 20 जुलाई है। पांचवें राउण्ड के सीट आवंटन में सामान्य वर्ग के लिए आईआईटी की क्लोजिंग रैंक 9464 रही, जो कि आईआईटी-बीएचयू की पांच वर्षीय फार्मास्यूटीकल इंजीनियरिंग की रही।

एनआईटी की क्लोजिंग रैंक 10 लाख 44 हजार 649 पर एनआईटी सिक्किम की सिविल इंजीनियरिंग ब्रांच की होम स्टेट कोटे से रही।

ट्रिपलआईटी की क्लोजिंग रैंक 34145 पर ट्रिपलआईटी मणिपुर की इलेक्ट्रोनिक्स एण्ड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग ब्रांच की रही। जीएफटीआई की क्लोजिंग रैंक 1,19,750 पर आसाम यूनिवर्सिटी सिल्चर की एग्रीकल्चर ब्रांच की रही।

421 सीटें रिक्त
पांचवें राउण्ड के सीट आवंटन के बाद 421 सीटें रिक्तरही। आईआईटी में एक सीट भुवनेश्वर की मेटलर्जी ब्रांच की एसटी कैटेगरी में खाली रही।

शेष 420 सीटें एनआईटी अगरतला, कालीकट, मेघालय, पाण्डुचेरी, सिक्किम, मिजोरम, मणिपुर की हैं। इनमें ज्यादातर सीटें एससी-एसटी कैटेगिरी की होम स्टेट कोटे से खाली रही। सातवें व अंतिम राउण्ड का सीट आवंटन 21 जुलाई को घोषित होगा।

विड्रॉल कराएं फीस, वरना अगले वर्ष वंचित
कॅरियर काउंसलर अमित आहूजा ने बताया कि एेसे विद्यार्थी जो आईआईटी की आवंटित सीट से संतुष्ट नहीं हैं और अगले वर्ष दोबारा जेईई-एडवांस परीक्षा में बैठना चाहते हैं, उन्हें सातवें राउण्ड के सीट आवंटन से पूर्व अपनी सीट छोड़कर फीस विड्रॉल करानी होगी। एेसा नहीं करने पर वो अगले वर्ष जेईई-एडवांस में बैठने के पात्र नहीं रहेंगे। 

विद्यार्थियों के लिए सीट छोड़कर फीस विड्रॉल करवाने का यह अंतिम अवसर है। इसके लिए विद्यार्थी जोसा पोर्टल पर दिए गए विड्रॉल विकल्प पर अपनी बैंक डिटेल भरकर विड्रॉल आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करना होगा।

इस पर हस्ताक्षर कर रिपोर्टिंग सेंटर पर रिपोर्ट करना होगा। जोसा द्वारा 1000 रुपए शुल्क काटकर शेष फीस लौटा दी जाएगी।