जीएसटी के बाद एफपीआई ने भारतीय बाजार में लगाए 11 हजार करोड़

0
62

निवेशक एक जुलाई को बिना किसी अड़चन या दिक्कत के जीएसटी लागू होने से उत्साहित हैं।

नई दिल्ली। देशभर में एक जुलाई से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू हो गया है। इसके बाद विदेशी निवेशकों की ओर से भारतीय बाजारों में निवेश बढ़ गया है। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने एक जुलाई के पहले दो हफ्तों के दौरान भारतीय पूंजी बाजार में करीब 11 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया है।

एफपीआई ने फरवरी से जून के दौरान भारतीय बाजार में 1.62 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया है। इससे पहले एफपीआई ने जनवरी के दौरान निवेश करने की जगह भारतीय बाजार में लगाए हुए 3,496 करोड़ रुपए निकाल लिये थे।

दिनेश रोहिरा, 5 नान्स डॉट कॉम के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने एफपीआई का भारतीय पूंजी बाजार के प्रति आकर्षण बढ़ने का कारण अर्थव्यवस्था में तेजी को बताया है। साथ ही इसके निवेशक एक जुलाई को बिना किसी अड़चन या दिक्कत के जीएसटी लागू होने से उत्साहित हैं।

हालांकि उन्होंने बताया है कि आगामी वैश्विक वृहद आर्थिक आंकड़े पर हाल के घटनाक्रम से कुछ विकासशील देशों में स्थिति में सुधार के संकेत मिलते हैं। यह भारतीय बाजार के लिए बाधा खड़ी कर सकते हैं क्योंकि एफपीआई अपना निवेश गंतव्य बदल सकते हैं।

लेकिन जुलाई के पहले 2 हफ्तों के दौरान विदेशी निवेशकों की ओर से बढ़े निवेश से सोमवार को भारतीय शेयर बाजार को समर्थन मिल सकता है। बीते सप्ताह शेयर बाजार ने ऑल टाइम हाई लेवल छुए हैं। सोमवार के कारोबारी सत्र में इसमें और तेजी देखने को मिल सकती है। जानकरी के लिए बता दें शुक्रवार को सेंसेक्स और निफ्टी ने रिकॉर्ड हाई छुआ था।