चौथी तिमाही में केनरा बैंक को 4860 करोड़ का घाटा

0
3

नई दिल्ली। फाइनेंशियल ईयर 2018 की चौथी तिमाही में केनरा बैंक को 4859.77 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। जबकि फाइनेंशियल ईयर 2017 की चौथी तिमाही में केनरा बैंक को 214.2 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। प्रोविजनिंग में करीब 3 गुना बढ़ोत्तरी की वजह से बैंक के नतीजों पर असर पड़ा है। बैंक को तीसरी तिमाही में 126 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। इस दौरान बैंक का बैड लोन भी बढ़ गया है।

9075 करोड़ रुपए हुई प्रोविजनिंग
फाइनेंशियल ईयर 2018 की चौथी तिमाही में केनरा बैंक की प्रोविजनिंग में करीब 3 गुना इजाफा हुआ है। इस दौरान बैंक की प्रोविजनिंग 9075 करोड़ रुपए हो गई है। एक साल पहले की समान अवधि में यह प्रोविजनिंग 2709 करोड़ रुपए के करीब थी।

नेट इंटरेस्ट इनकम बढ़ी
फाइनेंशियल ईयर 2018 की चौथी तिमाही में केनरा बैंक का नेट इंटरेस्ट इनकम 10.3 फीसदी बढ़कर 2987 करोड़ रुपए हो गया है। जबकि एक साल पहले की समान अवधि में बैंक का नेट इंटरेस्ठ अनकम 2708 करोड़ रुपए था।

नेट NPA 28542 करोड़ रुपए
चौथी तिमाही में तिमाही आधार पर केनरा बैंक का नेट एनपीए 6.78 फीसदी से बढ़कर 7.48 फीसदी रहा है। रुपए में चौथी तिमाही में केनरा बैंक का नेट एनपीए 25295.3 करोड़ रुपए से बढ़कर 28542.4 करोड़ रुपए रहा है।

ग्रॉस NPA 47468 करोड़ रुपए
तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में केनरा बैंक का ग्रॉस एनपीए 10.38 फीसदी से बढ़कर 11.84 फीसदी रहा है। रुपए में चौथी तिमाही में केनरा बैंक का ग्रॉस एनपीए 40312 करोड़ रुपए से बढ़कर 47468.4 करोड़ रुपए रहा है।