सम्मानजनक वेतन समझौता शीघ्र नहीं तो बैंकों में अनिश्चितकालीन हड़ताल

0
151

कोटा। सम्मानजनक वेतन समझौता शीघ्र लागू नहीं हुआ तो बैंकों में अनिश्चितकालीन हड़ताल होगी। बैंक कर्मचारी संगठनों ने यह चेतावनी दी है। बैंक कर्मी एवं अधिकारी यूनियनों के संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आव्हान पर वेतन समझौता शीघ्र सम्पन्न करने की मांग को लेकर बुधवार को सायं 5.15 बजे बैंक कर्मियों एवं अधिकारियों ने एरोड्राम चौराहा स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा के समक्ष विशाल प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारी बैंककर्मियों को संबोधित करते हुए बैंक कर्मी एवं अधिकारी नेताओं ने बताया कि पिछले वेतन समझौते की अवधि गत 31 अक्टूबर को समाप्त होने से पूर्व ही समय पर मांग पत्र यूनाइटेड फोरम द्वारा भारतीय बैंक संघ को प्रस्तुत कर दिया गया था, परंतु भारतीय बैंक संघ द्वारा किसी न किसी बहाने से वार्ताओं के दौरान कोई बढ़ोतरी का प्रस्ताव नहीं दिया गया। गत 5 मई को वार्ता के दौरान मात्र 2 प्रतिशत की वृद्धि के प्रस्ताव से बैंक कर्मियों के रोष व्याप्त हो गया है।

नेताओं ने बताया कि बैंकों के कारोबार में लगातार वृद्धि हो रही है साथ ही प्रत्येक सरकारी योजनाओं का बैंकों के माध्यम से क्रियान्वयन से बैंक कर्मी खासे दबाव में है। फिर भी लगातार मेहनत कर बैंको के लाभ में वृद्धि कर रहे हैं, लेकिन बड़े कॉर्पोरेट घराने द्वारा ऋण न चुकाने से बैंकों लाभ उसमे चला जाता है, इसमें बैंक कर्मियों का कोई दोष नहीं है।

इसकी जिम्मेदारी सरकार द्वारा ली जानी चाहिए। उन्होंने शीघ्र सम्मान जनक समझौता नही होने पर यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आव्हान पर मई के अंतिम सप्ताह में लगातार दो दिवसीय तथा बाद में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का संकल्प व्यक्त किया।

बैंक कर्मी एवं अधिकारी नेताओं ललित गुप्ता,पदम पाटोदी, आर के जैन,संजीव झा,विपिन चोरायवाल, मोहम्मद अकरम,डी एस साहू,पी सी गोयल, अनिल ऐरन, डी के गुप्ता, सुरेश खंडेलवाल,हेमराज सिंह गौड़, गजानंद मीणा ने संबोधित किया।