उच्च शैक्षणिक संस्थानों में ऐडमिशन न लेने पर पूरी फीस लौटानी पड़ेगी

0
12

नई दिल्ली। एचआरडी मिनिस्ट्री ने कहा है कि उच्च शैक्षणिक संस्थानों में किसी छात्र के दाखिला नहीं लेने की स्थिति में फीस नहीं लौटाने वाले संस्थाओं के खिलाफ जल्द ही कार्रवाई की जाएगी। मिनिस्ट्री के एक अधिकारी ने बताया कि एआईसीटीई और यूजीसी के मानदंडों के अनुरूप अगर कोई छात्र दाखिला नहीं कराता है तब संस्थान को उसकी फीस और मूल दस्तावेज लौटा देना होता है।

उन्होंने कहा कि ऐसा कई बार देखा गया है कि कुछ संस्थान फीस नहीं लौटाते या बड़ी रकम काट कर लौटाते हैं। ऐसे संस्थाओं को अब कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। अगर कोई संस्थान एआईसीटीई और यूजीसी के मानदंडों का पालन नहीं करते हैं तब ऐसे संस्थाओं की मान्यता तक वापस ली जा सकती है।

ऐसा पेशेवर संस्थाओं की ओर से छात्रों का शोषण रोकने के उद्देश्य से किया जा रहा है। अक्सर देश के कई उच्च संस्थानों की ओर से छात्रों की ऐडमिशन न लेने की सूरत में फीस लौटाने पर काफी कोताही बरती जाती है।

इस कारण छात्र काफी परेशान होते हैं, उन्हें अपनी फीस रिफंड कैसे हो सकती है इसका कोई कारगर उपाय नहीं पता होता है। मगर अब एचआऱडी मिनिस्ट्री के इस ताजा निर्देश के बाद से जो छात्रों की मुश्किलें आसान होंगी। क्योंकि अब ऐसे संस्थानों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई तक की जाएगी।