कोटा में एक्सपोर्ट आेरिएंटेड यूनिट लगवाने का प्रयास होगा: बिरला

0
23

कोटा। सांसद बिरला ने कहा कि  सरकार से यहां एक्सपोर्ट आेरिएंटेड यूनिट लगवाने का प्रयास किया जाएगा। लहसुन के अच्छे दाम के लिए कॉमर्स मिनिस्टर सुरेश प्रभु से मिलेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे विधायक हीरालाल नागर ने कहा कि यहां प्रोसेसिंग यूनिट लगाने का प्रयास कर रहे हैं। यह एक्सपोर्टर व किसानों को मिलाने का माध्यम है

बिरला गुरुवार को स्पाइसेज बोर्ड वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से भामाशाहमंडी के भामाशाह भवन में मसालों के क्रेता विक्रेताओं व एक्सपोर्टर बायर सेलर मीट को सम्बोधित कर रहे थे। उपनिदेशक उद्यानिकी रामावतार शर्मा ने लहसुन पावर प्रजेंटेशन से लहसुन की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश का 92 फीसदी लहसुन कोटा संभाग में होता है। यहां इस बार 7 लाख मीट्रिक टन लहसुन की पैदावार होने की उम्मीद है।

इसमें क्रेता विक्रेता के अलावा 20 से अधिक एक्सपोर्टर ने हिस्सा लिया। एक्सपोर्टर का कहना था कि उन्हें अच्छी क्वालिटी का लहसुन चाहिए। उसमें पेस्टीसाइड भी नहीं हो और उसकी सजाई भी बड़ी हो, इससे विदेशों में क्वालिटी फेल नहीं हो सके। वहीं, किसानों ने कहा कि जब कोटा संभाग में काफी लहसुन होने लगा तो सरकार भंडारण की प्रर्याप्त व्यवस्था करवाए और फसल के अच्छे दाम दे।

भामाशाह मंडी में गुरुवार को लहसुन की खरीद शुरू हो गई। इसका उद्‌घाटन विधायक हीरालाल नागर ने किया। इस दौरान राजफेड के मंडी समिति के अधिकारी मौजूद थे। लहसुन खरीद के लिए कई दिनों से डिमांड चल रही थी। सरकार ने 2 दिन पहले ही खरीद केंद्र शुरू करने के आदेश दिए थे।

राजफेड और क्रय विक्रय समिति लहसुन की खरीद कर रही है। पहले दिन दोपहर 2 बजे बाद खरीद केंद्र शुरू किया गया। पहले दिन 15 किसानों को समय दिया, लेकिन 125 क्विंटल लहसुन खरीदा।

किसानों को धोखा दे रही सरकार
इटावा में लहसुन के कम दाम मिलने के कारण आत्महत्या करने वाले किसान के घर पर पूर्व मंत्री भरत सिंह पहुंचे। उन्होंने पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि मृतक किसान के भाई से बात की तो उसका कहना था कि उस पर 7 से 8 लाख रुपए का कर्ज था और लहसुन की फसल ठीक भाव नहीं बिक रही थी। इस  वजह से जहर खा लिया।