GST रिटर्न भरना अब और आसान, आएगा सिंगल पेज का फार्म

0
400

नागपुर।  केंद्र सरकार जल्द ही GST से जुड़े कारोबारियों को एक बड़ी सौगात देने जा रही है। सरकार जीएसटी के तहत रिटर्न फाइल करने के लिए एक सिंगल पेज का फार्म उपलब्‍ध कराएगी। यह जानकारी केंद्रीय वित्त सचिव हसमुख अढिया ने शुक्रवार को यहां दी।

उन्‍होंने कहा कि यह अगले 3 से छह महीने के भीतर नई व्‍यवस्‍था लागू हो जाएगी। इससे कारोबारियों को काफी राहत मिलेगी। बीते 17 अप्रैल को जीएसटी मिनिस्‍टर्स के पैनल ने इस संबंध में फैसला लिया है।

GST-1 और GST-3b में लीकेज के सवाल का जवाब देते हुए अढिया ने बताया, हम GST-1 और GST-3b की चेकिंग कर रहे हैं। लीकेज है और हम इसे रोकेंगे। अगले 3 से 6 महीनों के भीतर एक नया सिस्‍टम होगा, जिसके बाद सभी प्रक्रिया स्‍मूथ हो जाएगी।

इनपुट टैक्स क्रेडिट पर नहीं बनी है सहमति
हालांकि इस सिंगल पेज रिटर्न फॉर्म को जारी करने में फिलहाल एक पेंच फंसा हुआ है। जीएसटी काउंसिल से जुड़े अधिकारियों और इंफोसिस के सीईओ नंदन निलेकणी के बीच इनपुट टैक्स क्रेडिट पर सहमति नहीं बनी है। हालांकि इस पेंच पर बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी की अध्यक्षता में बने मंत्रियों का समूह इस मुद्दे पर बातचीत कर रहा है। इंफोसिस ने ही जीएसटी रिटर्न भरने का सॉफ्टवेयर तैयार किया है।

सरल किया 3बी फॉर्म : इससे पहले केंद्र सरकार ने जीएसटी रिर्टन के फॉर्म 3बी अब काफी सरल कर दिया था। जीएसटी नेटवर्क ने फॉर्म 3बी में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं, जिसके बाद कारोबारियों को रिटर्न भरने में बहुत आसानी हो जाएगी।

टैक्स का पेमेंट होगा आसान
पहले कारोबारियों को अपनी टैक्स की देनदारी का पता करने के लिए रिटर्न को सबमिट करना पड़ता था, जिसके बाद किसी तरह का बदलाव नहीं किया जा सकता था। लेकि अब टैक्स देनदारी का पता रिटर्न सबमिट करने से पहले ही पता चल जाएगा।