चौथी तिमाही में टीसीएस का मुनाफा 4.4% बढ़कर 6,904 करोड़ हुआ

0
4

मुंबई। देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस (टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस) ने गुरुवार को वित्त वर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही के नतीजे जारी किए। इनमें कंपनी का मुनाफा तीसरी तिमाही के 6,531 करोड़ रुपए से बढ़कर 6,904 करोड़ रुपए हो गया। वहीं, तीसरी तिमाही की तुलना में कंपनी की आय 30,904 करोड़ रुपए से बढ़कर 32,075 करोड़ रुपए हो गई है। एक साल पहले यानी 2016-17 की चौथी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 6,604 करोड़ रुपए रहा था।

टीसीएस के चौथी तिमाही के नतीजे
– मुनाफा 4.4% बढ़कर 6,904 करोड़ रुपए।
– आय 8.2% बढ़कर 32,075 करोड़ रुपए।
– कंपनी का एबिट मार्जिन 25.4% रहा है।
2017-2018 में मुनाफा घटा, रेवेन्यू बढ़ा
-हालांकि, पूरे वित्त वर्ष में कंपनी का मुनाफा 1.7% घटकर 25,826 करोड़ रुपए रह गया है, जबकि रेवेन्यू 4.3% बढ़कर 1.23 लाख करोड़ रुपए हो गया है।
शेयरधारकों को बोनस शेयर और डिविडेंड
– कंपनी बोर्ड ने एक पर एक बोनस शेयर देने का एलान किया है। शेयरधारकों को 29 रुपए प्रति शेयर डिविडेंड दिया जाएगा।
– तिमाही के नतीजों को लेकर कंपनी के सीईओ और एमडी राजेश गोपीनाथन का कहा, “सभी इंडस्ट्रीज में डिजिटल डिमांड बढ़ने और कई बड़ी डील मिलने से पिछले कुछ सालों की तुलना में ये चौथी तिमाही के सबसे बेहतर नतीजे हैं।”
कैसे रहे थे तीसरी तिमाही के नतीजे
– मुनाफा: 1.3% बढ़कर 6,531 करोड़ रुपए
– रेवेन्यू:1.1% बढ़कर 30,904 करोड़ रुपए
– डॉलर आय: 1% बढ़कर 4,787 करोड़ डॉलर
डिविडेंड
– कंपनी ने तीसरी तिमाही में 7 रुपए प्रति शेयर डिविडेंड देने का ऐलान किया था।
शेयर पर दिख सकता है चौथी तिमाही के नतीजों का असर
– गुरुवार को टीसीएस का शेयर 1% बढ़त के साथ पर बंद हुआ। चौथी तिमाही के नतीजों का असर शुक्रवार को कंपनी के शेयर भाव पर दिख सकता है।