आईआईटी-जेईई ओरियन्टेशन में 4500 विद्यार्थी व अभिभावक शामिल

0
8

कोटा। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट में ओरियन्टेशन सेशन का सिलसिला जारी है। इंद्रविहार स्थित संस्था के समर्थ कैम्पस के सद्भाव सभागार में आईआईटी-जेईई के लिए ओरियन्टेशन आयोजित किया गया। दो सत्रों में हुए इस सेशन में चार हजार से अधिक विद्यार्थी और अभिभावक शामिल हुए।

दीप प्रज्जवलन के साथ शुरू हुए ओरियन्टेशन सेशन में विद्यार्थियां और अभिभावकों को कोटा कोचिंग की खासियत और एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के सिस्टम से परिचित करवाया गया। सेशन में विद्यार्थियों और अभिभावकों को एलन की कार्यप्रणाली, परिणाम, अकेडमिक कैलेण्डर, उद्देश्य और स्टडी पैटर्न से अवगत करवाया गया।

निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने कहा कि आप लोग कोटा आ गए हैं। संकल्प लें कि कोटा आए हैं तो सफल होकर जाएंगे। ध्यान रहे विद्यार्थी के पांच लक्ष्ण होते हैं। इसमें काग चेष्ठा अर्थात विद्यार्थी सीखने और जानने के लिए चेष्ठावान होना चाहिए। हर बात को उत्सुकतापूर्वक सीखे। बको ध्यानम, बगुले की तरह ध्यानमग्न होना चाहिए।

हम जब भी पढ़ें तो पूरी तरह ध्यान लगाकर पढ़ें। श्वान निद्रा, विद्यार्थी की निद्रा में चेतन्यता होनी चाहिए। जल्दी उठना, जल्द ही निर्णय लेना विद्यार्थी के गुण में शामिल होना चाहिए। अल्पाहारी, विद्यार्थी को कम खाने वाला होना चाहिए, ताकि पढ़ाई में ध्यान लगा सकें।

गृहत्यागी, एक विद्यार्थी को गृहत्यागी होना चाहिए, पढ़ाई के लिए आप सभी ने घर छोड़ा है। ये पांच गुण कोटा के विद्यार्थियों में है। यही कारण है कि यहां आकर विद्यार्थी कहते हैं कि मेरी लगाई पढ़ संग प्रीत दुनिया क्या जाने… यहां आकर आप सभी पढ़ाई में खो जाएं। किताबों को अपना मित्र बनाएं।

एलन एचओडी व सीनियर फेकल्टीज ने एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के सिस्टम की विस्तार से जानकारी दी। अकेडमिक कैलेण्डर के बारे में बताते हुए कहा कि कोर्स कब शुरू होगा, कब समाप्त होगा। टेस्ट और रिवीजन क्लासेज के शेड्युल क्या रहेंगे। इसके साथ ही एलन के परिणामों पर भी चर्चा हुई।

विद्यार्थियों और अभिभावकों को रिजल्ट एनालिसिस के बारे में भी बताया गया। कौनसी परीक्षा में कितने अंक लाने पर कहां-कहां प्रवेश की संभावनाएं रहती हैं, जेईई मैन्स व एडवांस्ड के प्रश्नपत्र कैसे आते हैं, इन्हें हल करने का क्या तरीका होता है।

इस ओरियन्टेशन सेशन को वाइस प्रसीडेंट विनोद कुमावत, एनके गुप्ता, जीवनज्योति सर ने सम्बोधित किया। सेशन के अंत में सभी ने ‘रूक जाना नहीं, तू कहीं हार के…..‘ गीत गाते हुए सफल भविष्य के लिए विद्यार्थियों व अभिभावकों को शुभकामनाएं दी।