ATM आउट ऑफ कैश: पांच गुना बढ़ी नोटों की प्रिंटिंग

0
5

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली, यूपी, गुजरात, एमपी समेत कई राज्‍यों में अचानक कैश की किल्‍लत हो गई है। एटीएम में पैसे नहीं है। वहां ‘आउट ऑफ कैश’ को बोर्ड लगा है। कैश की किल्‍लत का मामला सामने आने के बाद सरकार की तरफ से भी बयान आया है। वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सर्कुलेशन में पर्याप्‍त करंसी है। बैंकों के पास भी उपलब्‍ध है। कुछ क्षेत्रों में कैश की ‘अचानक और असामान्‍य’ मांग बढ़ने से अस्‍थायी दिक्‍कत पैदा हुई है। इसे जल्‍द दूर कर लिया जाएगा।

वित्‍त राज्‍य मंत्री एसपी शुक्‍ला ने कहा कि हमारे पास पर्याप्‍त नकदी है। एक समस्‍या यह है कि कुछ राज्‍यों में कम करंसी है और कुछ राज्‍यों में ज्‍यादा है। अगले 2-3 दिन में हालात सामान्‍य हो जाएंगे। बैंकिंग सेक्रेटरी ने कहा है कि 500 रुपए के नोटों की दिक्‍कत 5-7 दिन है। केवल 10-12 फीसदी एटीएम में ही कैश नहीं है। उधर, छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री रमण सिंह ने कहा कि अन्‍य दूसरे राज्‍यों की तरह छत्‍तीसगढ़ में भी कैश की किल्‍लत है। जल्‍द से जल्‍द इस स्थिति को दूर कर लिया जाएगा।

कैश का नहीं है कोई संकटः आरबीआई
कैश की किल्‍लत से देश भर में मचे हाहाकार के बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने करंसी की कमी से इंकार किया है। आरबीआई ने कहा है कि पर्याप्‍त मात्रा में कैश है और इसका कोई संकट नहीं होने वाला है। आरबीआई ने कहा कि लॉजिस्‍टिकल इश्‍यू की वजह से कुछ इलाकों के ATMs में करंसी नहीं है। हम इन स्थितियों पर नजर बनाए हुए हैं।

अगले 2 दिन 2500 करोड़ रुपए रोजाना सप्‍लाई करेंगे
वित्तीय मामलों के सचिव एससी गर्ग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि हम 500 रुपए की वैल्‍यू में 500 करोड़ रुपए रोज प्रिंट करते हैं। हमने इस प्रोडक्‍शन को बढ़ाकर पांच गुना करने का फैसला किया है। अगले दो दिन में 500 रुपए नोट की वैल्यू के करीब 2500 करोड़ रुपए रोजाना सप्‍लाई करेंगे। एक महीने यह सप्‍लाई करीब 70 हजार से 75 हजार करोड़ हो जाएगी। देश में 18 लाख करोड़ रुपए की करंसी सर्कुलेशन में थी और जहां जिस तरह की डिमांड है, वहां वैसी सप्लाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि हमने नोटों की प्रिंटिंग को बढ़ा दिया है।

सरकार और RBI ने बनाई कमिटी
वित्‍त राज्‍य मंत्री ने बताया कि सरकार ने राज्‍य-वार कमिटी बनाई है। वहीं, आरबीआई ने भी एक राज्‍य से दूसरे राज्‍य में करंसी ट्रांसफर करने के लिए कमिटी बना दी है। तीन दिन में हालात सामान्‍य हो जाएंगे।

कहां क्‍या हैं हालात?
दिल्‍ली: न्‍यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, दिल्‍ली में लोगों का कहना है कि हम लोग कैश की किल्‍लत का सामना कर रहे हैं। अधिकांश एटीएम में कैश नहीं है। जिस एटीएम में है पैसे हैं वह केवल 500 के नोट निकाल रहे हैं। मुश्किल हालात हैं।
यूपी (वाराणसी): यहां लोगों का कहना है कि हमें नहीं पता कि कहां- क्‍या दिक्‍कत है लेकिन आम आदमी को परेशानी हो रही है। एटीएम से पैसे नहीं निकल रहे हैं। 5-6 एटीएम में जाने के बाद भी पैसे नहीं मिल रहे। घर की छोटी-छोटी जरूरतों के लिए कैश की आवश्‍यकता है।
तेलंगाना: हैदराबाद में लोगों ने एटीएम में पैसा न होने की शिकायत की है। कुछ लोगों ने बताया कि हमने शहर के कई इलाकों के एटीएम में गए, लेकिन किसी भी पैसा नहीं मिला।
गुजरात (वडोदरा): यहां लोगों ने एटीएम में पैसे नहीं होने के चलते असुविधा की शिकायत की। उनका कहना था कि अधिकांश एटीएम आउट ऑफ सर्विस हैं। वहीं, एक चल रहे एटीएम से केवल 10 हजार ही निकाल सकते हैं। वहां भी लोगों की भीड़ लगी है।
मध्‍य प्रदेश (भोपाल): यहां लोगों का कहना है कि हम नकदी की कमी का सामना कर रहे हैं। एटीएम में पैसे नहीं है। पिछले 15 दिन से हालात ऐसे ही हैं। कई एटीएम पर जाने पर भी पैसे नहीं मिल रहे हैं।
बिहार (पटना): यहां लोगों का कहना है कि एटीएम आउट ऑफ सर्विस हैं। पिछले तीन दिन से कई बार एटीएम के चक्‍कर लगाने के बाद भी कैश नहीं मिला। इस गर्मी में कैश के लिए काफी दिक्‍कत हो रही है।