उज्जवला योजना : सौ फीसदी एलपीजी गैस कनेक्शन का लक्ष्य

0
25

कोटा । प्रधानमंत्री ग्राम उज्जवला योजना के तहत कोटा जिले की 27 पंचायतों के 2700 चयनित लाभार्थी उपभोक्ताओं को लिक्विड पेट्रोलियम गैस घरेलू गैस मुफ्त उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

मंगलवार को पैट्रोलियम गैस कंपनीज के समन्वयक कुलजीत कुमार ने पत्रकारों को बताया कि 14 से 20 अप्रेल तक तक चल रहे विशेष पखवाड़े में 20 अप्रेल को 27 एलपीजी पंचायतों के गांवों में ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत हर पंचायत के 100 उपभोक्ताओं को प्रमाणित दस्तावेजों के आधार पर फ्री कनेक्शन दिया जाएगा।

इन उपभोक्तओं में प्रथम चरण में बीपीएल, अनुसूचित जाति, जन जाति, राशन कार्ड धारक, अंत्योदय परिवारों को शिविर में प्राथमिकता दी जाएगी।  कोटा शहर में प्रेमनगर चौराहे पर 20 अप्रेल को प्रातः 11 से 2 बजे तक शिविर लगाया जाएगा। 5 मई को जिले के रामगंजमण्डी क्षैत्र के तीन गांवों लक्ष्मीपुरा तथा सहरावदा और ढींगसी को धुंआ मुक्त कर दिया जाएगा।

ग्रामीण क्षैत्र में वन विभाग की योजना में आने वाले ग्रामीणों को भी इसमें प्राथमिकता से लाभ मिलेगा। इसके लिए सर्वे का काम चल रहा है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षैत्रों में जहां यदि किसी उपभोक्ता के पास मोबाईल फोन नहीं है तो, आधार कार्ड आदि पर कोई रास्ता निकाला जाएगा।

कुलजीत कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार ने अंत्योदय आदि के 5 करोड़ उपभोक्ताओं को गैस कनेक्शन देने के लक्ष्य का बढ़ाते हुए अब उसे 8 करोड़ कर दिया है। देश की एक लाख पंचायतों को 2019 तक एलपीजी युक्त पंचायत बनाने का लक्ष्य है। सरकार का लक्ष्य है कि एक भी घर बिना एलपीजी कनेक्शन के न रहे।

उन्होंने बताया कि हाड़ौती में एलपीजी के 16 लाख उपभोक्ता है। कोटा शहर में ही ढाई लाख है। इन शिविरों में उपभोक्ताओं को सुरक्षित तरीके से गैस के उपयोग का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। प्रेस वार्ता में हाड़ौती एलपीजी डिस्ट्रिब्यूटर्स एसोसिएशन के सचिव अरविंद गुप्ता एवं अन्य पदाधिकारियों ने भी विचार व्यक्त किए।