डॉ.एचडी चारण बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी के प्रथम कुलपति बने

0
10

कोटा। राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी में डीन, अकादमिक डॉ. एचडी चारण राज्य में बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रथम कुलपति नियुक्ति किए गए हैं।  राज्यपाल एवं बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलाधिपति कल्याण सिंह ने राज्य सरकार की सहमति से मंगलवार को आदेश जारी कर तीन वर्ष के लिए डॉ. हाकम दान चारण को बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय का प्रथम कुलपति नियुक्त किया है।

आरटीयू के कुलपति प्रो.एनपी कौशिक ने बीटीयू के कुलपति बनाए जाने पर डॉ चारण को बधाई दी। इस वर्ष राज्य सरकार की बजट घोषणा के बाद संस्थापक कुलपति की नियुक्ति हो जाने से बीकानेर इंजीनियरिंग कॉलेज में ही बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी (बीटीयू) की शुरूआत होने की उम्मीद है।

नए सत्र 2018-19 से बीटीयू से अजमेर, जोधपुर, बीकानेर, जयपुर संभाग के अलवर, सीकर, चुरू, झुंझनू जिलां के 37 इंजीनियरिंग, 21 एमबीए, 10 एमसीए व 1 बीआर्क कॉलेज सहित 69 कॉलेज संबद्ध हो जाएंगे। जबकि कोटा, उदयपुर, भरतपुर व जयपुर संभाग के कुछ जिलों के कॉलेज आरटीयू से ही जुडे़ रहेंगे।

बाड़मेर के छोटे से गांव से कुलपति तक पहुंचे
बीटीयू के प्रथम कुलपति डॉ.एचडी चारण का बाड़मेर जिले के छोटे से गांव देदड़ियार में जन्म हुआ। ग्रामीण परिवेश में पढ़कर उन्होंने बीटेक के बाद आईआईटी-रूडकी से एमटेक एवं पीएचडी उपाधि ली। इस दौरान उन्हें बेस्ट रिसर्च अवार्ड नवाजा गया। इसके पश्चात् 32 वर्ष उन्होंने गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी में अध्यापन कार्य किया।

14 वर्ष तक आरटीयू में प्रोफेसर के पद पर रहते हुए डीन स्टूडेंट वेलफयर, परीक्षा नियंत्रक सहित विभिन्न सेवाएं दी। नेशनल व इंटरनेशनल जर्नल में उनके शोध पत्र प्रकाशित हुए।

वर्तमान में आरटीयू में डीन अकादमिक अफेयर में नवाचार करते हुए डॉ चारण ने आरटीयू से जुडे़ सभी इंजीनियिंरग कॉलेजों के लिए क्वालिटी इंडेक्स वैल्यू (ग्रेडिंग सिस्टम) लागू किया, जिससे एआईसीटीई ने अन्य यूनिवर्सिटी के लिए आदर्श माना। डॉ.चारण ने इस वर्ष बीटेक प्रथम वर्ष के सिलेबस में ह्यूमन वैल्यू के पेपर को शामिल किया।