ऑफलाइन आधार वेरिफिकेशन हुआ आसान, UIDAI लाया QR कोड

0
22

नई दिल्ली। यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने ई-आधार के लिए डिजिटल साइन के साथ एक नया क्यूआर कोड शुरू किया है।

इस क्यूआर कोड में अब आधार किसी भी इनडिविजुअल की डेमोग्रॉफिक डिटेल के साथ उसकी फोटो भी होगी। किसी भी इनडिविजुअल का ऑफलाइन वैरिफिकेशन बेहतर करने के लिए UIDAI ने अब ई आधार में नया अपडेट किया है।

UIDAI के एक सूत्र के अनुसार अबतक ई-आधार पर QR कोड के साथ किसी इनडिविजुअल की डेमोग्रॉफिक डिटेल दी होती थी। अब इसे अपडेट कर दिया गया है। अब ई-आधार पर डिजिटल साइन वाले QR कोड के साथ फोटो और डेमोग्रॉफिक डिटेल भी दी होगी।

वेरिफाई करना होगा आसान
QR कोड बारकोड लेवल के फॉर्म में होगा, जिसमें मशीन से पढ़ने लायक सूचनाएं लिखी होंगी। ई-आधार, आधार कार्ड का इलेक्ट्रॉनिक वर्जन है, जिसे UIDAI की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है। UIDAI के सीईओ अजय भूषण पांडेय का कहना है कि यह एक साधारण ऑफलाइन मकैनिज्म है, जो किसी आधार कार्ड की वास्तविकता जल्द वैरिफाई कर लेगा।

QR कोड रीडर सॉफ्टवेयर उपलब्ध
उनका कहना है कि ई-आधार पर फोटो भी होगी, जिससे यह पहचान करना आसान होगा कि पहचान कराने वाले का ही आधार कार्ड है। ई-आधार QR कोड रीडर सॉफ्टवेयर नोडल बॉडी की वेबसाइट पर 27 मार्च 2018 से ही उपलब्ध है। सूत्रों के अनुसार ऑफलाइन वेरिफिकेशन की इस सुविधा से एक और विकल्प उपलब्ध होगा और यह सुनिश्चित होगा कि आधार कार्ड धारक को आधार से जुड़ी किसी सुविधा से वंचित नहीं किया जाए।

वर्चुअल आईडी का बीटा वर्जन हुआ था जारी
UIDAI ने हाल ही में वर्चुअल आईडी का बीटा वर्जन जारी किया था। इसे यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जनरेट किया जा सकता है। 16 अंकों की यह आईडी जनरेट करने के बाद कहीं भी आधार वेरिफिकेशन के लिए आप इस आईडी को दे सकेंगे।

आप वर्चुअल आईडी के जरिए ही अपनी पहचान को सत्यापित करा सकेंगे और आधार कार्ड नंबर देने की भी जरूरत नहीं होगी। आधार कार्ड की अनिवार्यता के विरोध और उसके चलते प्राइवेसी के खतरे के मद्देनजर UIDAI ने यह कदम उठाया है। 16 अंकों की इस आईडी के जरिए आपके पते और फोटो का वेरिफिकेशन भी हो सकेगा।