विंटेज कारें: पहले शायद ही कभी देखीं होंगी, जानिए इनके बारे में

0
45

क्लासिक कारों की बात हो तो लोगों में एक अलग तरह का उत्साह देखने को मिलता है। यूं तो क्लासिक कारों की कीमतें बहुत ज्यादा होती है लेकिन अमेरिका के फ्लोरिडा शहर में एक आॅटो शो में कुछ और ही देखने को मिला। यहां के अमीलिया आईलैंड पर आयोजित हुए इस शो में एक से बढ़कर एक विंटेज कारें बिकीं।

गजब बात यह रही कि हाई क्वॉलिटी वाली ये कारें उम्मीद से काफी कम दाम पर बिक गईं। देखें, किन विंटेज कारों की हुई क्लासिक डील और कितनी लगी इनकी कीमत…इस साल के शो में Harry Yeaggy की Duesenberg J/SJ Convertible कार को विनर ट्रोफी मिली। यह कार 1929 में बनी थी। ‘बेस्ट इन शो’ का अवॉर्ड 1963 में बनी Ferrari 250/275P कार को गया।

इसे जेएसएल मोटरस्पोर्ट्स कलेक्शन नामक फर्म ने तैयार किया था। इन दोनों कारों को टॉप अवॉर्ड कारों के मेटल की चमक-दमक बरकरार रखने, इनके रेयर होने, इनकी शानदार रेसिंग हिस्ट्री और लीक से हटकर यूनीक डिजाइन और परफॉर्मेंस क्षमताओं के लिए दिया गया है। ये अपने जमाने की सबसे धाकड़ कारों में शुमार रही हैं।

इस तस्वीर में जो कार आप देख रहे हैं वह अमेरिका में कभी टॉप सेलिंग कार थी। 1966 में बनी इस कार का नाम Ferrari 275 GTB है। यह अलॉय वील्ज वी कूपे है और इसको आॅटो शो में महज 2.53 मिलियन डॉलर यानी लगभग 16 करोड़ रुपए में बिकी। इस कार का रेसिंग इतिहास बहुत ही शानदार रहा है। इसे कई सालों से चलाया नहीं गया है।

आॅटो शो में यह दूसरी सबसे ज्यादा बोली वाली कार रही। यह फरारी की एंजो कूपे है जो कि 2003 मॉडल है। इसे 2.36 मिलियन डॉलर यानी लगभग 15 करोड़ रुपए में खरीदा गया। ओवरआल देखें तो इस बार के आॅटो शो में एक कार का एवरेज सेल प्राइस 240,794 अमेरिकी डॉलर यानी लगभग 1.5 करोड़ रुपए रहा। पिछले साल इसी आॅटो शो में यह प्राइस 333,218 अमेरिकी डॉलर यानी लगभग 2 करोड़ 16 लाख रुपए था।

पोर्शे 911 टर्बो एस Leichtbau Coupe जो कि 1993 का मॉडल है। यह टॉप सेलिंग पोर्शे कार बनी। इसकी कीमत 1.76 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानी लगभग 11 करोड़ 42 लाख रुपए है। यह भी पोर्शे की कार है। Porsche 911 Carrera RS 3.8 कूपे है और यह 1993 मॉडल है। यह दूसरी सबसे महंगी बिकने वाली पोर्शे कार बनी। इसकी कीमत 1.65 मिलियन डॉलर लगी।

Isotta Fraschini Tipo 8A S Boattail कैब्रियोले विंटेज कारों में से इस क्लासिक कार ने भी बेहतरीन परफॉर्म किया। यह 1930 का मॉडल है। इसकी कीमत 1.27 मिलियन डॉलर यानी लगभग 8 करोड़ 24 लाख रुपए लगी।

अमेरिकी कंपनी फोर्ड की कूपे Ford GT40 Mk IV 1967 का मॉडल है। इसे 1.925 मिलियन अमेरिकी डॉलर में खरीदा गया। यह फोर्ड की पहली कम्प्लीट कार थी जो कि केवल रेसिंग के लिहाज से ही डिजाइन की गई थी। यह शो में चौथी सबसे महंगी बिकने वाली कार बनी।