कांग्रेस, सीपीएम समेत कई दलों का अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन

0
23

नई दिल्ली। तेलुगू देशम पार्टी और वाईएसआर कांग्रेस की ओर से मोदी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को कई दलों का समर्थन मिलता दिख रहा है। कांग्रेस, एआईएडीएमके, टीएमसी और सीपीएम जैसे बड़े दलों ने टीडीपी के अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन देने का ऐलान किया है।

कांग्रेस लीडर मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि शुरुआत से ही आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने का समर्थन करते रहे हैं। हम चाहते हैं कि आंध्र के लोगों को न्याय मिले। जब अविश्वास प्रस्ताव पेश होता है, तब आप सरकार की असफलताओं पर बात करते हैं।

हम तमाम लोगों से संपर्क साध रहे हैं। इस बीच एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने भी अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने का ऐलान किया है। सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने ट्वीट कर कहा, ‘हम बीजेपी के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करते हैं।

यह आंध्र प्रदेश के लोगों के साथ विश्वासघात है।’ इस बीच बीजेपी ने टीडीपी की ओर से एनडीए से समर्थन वापस लेने और केंद्र के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के ऐलान को बीजेपी ने आम चुनाव से पहले की रिहर्सल करार दिया है।

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने टीडीपी के अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस को लेकर कहा, ‘देखते हैं संसद में क्या होता है, कौन सी पार्टी किस ओर जाती है। यह चुनावी साल है और हर राज्य की अपनी मांगें और मुद्दे हैं। इस पर फिलहाल हमारे लिए टिप्पणी करना उचित नहीं है। यह एक परंपरा है। वास्तविक चुनावों से पहले संसद में अकसर रिहर्सल होती रही है।’

अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस को कांग्रेस और एआईएडीएमके के समर्थन के बाद इसे सदन में पेश किए जाने को मंजूरी मिल सकती है। सूत्रों के मुताबिक लोकसभा स्पीकर की ओर से टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस को सदन में बोलने का मौका दिया जा सकता है। इस बीच टीडीपी के एनडीए से बाहर आने का कई विपक्षी दलों ने स्वागत किया है।

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा, ‘एनडीए छोड़ने के टीडीपी के फैसले का मैं स्वागत करता हूं। मौजूदा स्थिति की यह मांग है कि देश को आपदा से बचाने के लिए ऐसे ऐक्शन लिए जाएं। मैं सभी विपक्षी दलों से मांग करती हूं कि वे राजनीतिक अस्थिरता, आर्थिक संकट और उत्पीड़न के खिलाफ मिलकर लड़ाई लड़ें।’

शिवसेना बोली, मोदी सरकार से मन टूटा
इस बीच अकसर बीजेपी पर हमलावर रहने वाली सहयोगी पार्टी शिवसेना ने एक बार फिर से उस पर हमला बोला है। शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि मोदी सरकार से हमारा भी मन टूट चुका है।