अमेरिकी प्रोडक्ट्स पर टैक्स कम करें, ट्रम्प की भारत को धमकी

0
22

वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत और चीन को अमेरिकी प्रोडक्ट्स पर ज्यादा टैक्स लगाने पर वॉर्निंग दी है। उन्होंने कहा कि दोनों देश अपने टैक्स रेट हमारे देश के बराबर कर लें या फिर हमारी जवाबी कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहें। इससे पहले वे भारत पर अमेरिकी हार्ले डेविडसन बाईक्स पर 50% टैक्स वसूलने का आरोप लगा चुके हैं। उन्होंने इस मामले पर नरेंद्र मोदी से भी बात करने को कहा था।

ट्रम्प बोले- हमें अपनी कंपनियों से इंसाफ करना होगा
ट्रम्प ने शुक्रवार को कहा- आने वाले वक्त में हम एक रेसिप्रोकल (जवाबी) टैक्स प्रोग्राम ला सकते हैं। ताकि अगर चीन हमारे प्रोडक्ट्स पर 25% या भारत 75% ड्यूटी लगाए, तो हम भी उन पर उल्टा टैक्स लगा सकें। वो अगर 25, 50 और 75 हो सकते हैं, तो हमें भी जवाबी ड्यूटी लगानी पड़ेगी। इसे मिरर ऑफ टैग्स कहते हैं।

ट्रम्प ने बताया कि रेसिप्रोकल (जवाबी) टैक्स के लिए प्लान पहले ही बन चुका है। अमेरिकी कंपनी टेस्ला के मालिक एलॉन मस्क के ट्वीट का जिक्र करते हुए ट्रम्प ने कहा कि चीन हमारी कारों पर 25% ड्यूटी वसूलता है, जबकि अमेरिका चीन की कारों पर सिर्फ 2.5% टैक्स ही लगाता है। इसका मतलब है कि दूसरे देश अमेरिकी कंपनियों के साथ ठीक बर्ताव नहीं कर रहे। अमेरिकी व्यापारियों के साथ इंसाफ सिर्फ रेसिप्रोकल टैक्स प्रोग्राम आने के बाद ही हो सकता है।

अमेरिका नहीं लेता भारतीय प्रोडक्ट्स पर टैक्स
– ट्रम्प पहले भी भारत पर अमेरिका की हार्ले डेविडसन बाईक्स पर 50% टैक्स वसूलने का आरोप लगाते रहे हैं। ट्रम्प का कहना है कि भारत हमारी बाईक्स पर भारी ड्यूटी वसूलता है, जबकि हम भारत से इम्पोर्ट होने वाली बाइक्स पर कोई ड्यूटी नहीं लेते।
– ट्रम्प कह चुके हैं कि इस सिलसिले में उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी बात की है।

स्टील और एल्युमिनियम पर अमेरिका ने शुरू किया इम्पोर्ट टैक्स
– अमेरिका ने हाल ही में स्टील और एल्युमिनियम के इम्पोर्ट पर टैक्स लेने का एलान किया था। गुरुवार को इसके आदेश पर दस्तखत करते हुए ट्रम्प ने कहा था कि देश के फायदे के लिए ये बहुत जरूरी था।
– अब अमेरिका स्टील के इम्पोर्ट पर 25% और एल्युमिनियम के इम्पोर्ट पर 10% की दर से टैक्स वसूलेगा। हालांकि, कनाडा और मेक्सिको से इम्पोर्ट होने वाले स्टील और एल्युमिनियम पर कोई टैक्स नहीं लेगा।