PNB फ्रॉड: नीरव मोदी पर 321 करोड़ की धोखाधड़ी का एक और केस दर्ज

0
12

नई दिल्ली । सीबीआई ने गुरुवार को पंजाब नेशनल बैंक फ्रॉड मामले के आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ 321 करोड़ की धोखाधड़ी का एक और केस दर्ज किया है। सीबीआई के मुताबिक, नीरव मोदी ने 2013 से 2017 तक क्रेडिट सुविधाओं का फायदा उठाकर बैंक को 321 करोड़ रुपए का नुकसान पहुंचाया। बता दें कि इससे पहले पीएनबी ने 12,672 करोड़ रुपए के फ्रॉड में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी पर केस दर्ज कराया।

क्या है मामला?
– सीबीआई के मुताबिक, नया केस पीएनबी द्वारा रविवार को की गई शिकायत के बाद दर्ज किया गया। नीरव मोदी पर दर्ज किया ये दूसरा केस है।
– इस एफआईआर में नीरव मोदी और उसकी कंपनी फायरस्टार डायमंड के पूर्व प्रेसिडेंट विपुल अंबानी, रवि गुप्ता, कंपनी के कुछ और अधिकारी और कुछ अज्ञात बैंककर्मी भी इसमें शामिल हैं।
– बैंक ने सीबीआई की गई शिकायत में आरोप लगाए, “बैंक की आंतरिक जांच में यह बात सामने आई कि नीरव मोदी द्वारा उसकी सहयोगी कंपनियों सोलर एक्सपोर्ट्स, स्टेलर डायमंड, और डायमंड आर यूएस और फायरस्टार ग्रुप के बीच सर्कुलर ट्रांजेक्शन हुए। जिससे बैंक को 321 करोड़ का नुकसान हुआ।”
– सीबीआई के मुताबिक, बैंक के हेड आफिस ने फायरस्टार डायमंड्स और फायरस्टार इंटरनेशनल के खातों में फ्रॉड होने की बात कही और इसकी जानकारी आरबीआई को भी दी।

क्या है पीएनबी घोटाला?
– पीएनबी ने पिछले दिनों सेबी और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को 11,421 करोड़ रुपए के घोटाले के जानकारी दी। घोटाला मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में हुआ। 2011 से 2018 के बीच हजारों करोड़ की रकम 297 फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LoUs) के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई। इस मामले में सीबीआई ने पहली एफआईआर 14 फरवरी को दर्ज किया था।
– पीएनबी ने हाल ही में सीबीआई को बैंक में 1300 करोड़ के नए फ्रॉड की जानकारी दी थी। यह मेहुल चौकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स से जुड़ा है। इस तरह पीएनबी फ्रॉड 11,421 से बढ़कर 12,672 करोड़ हो गया है।
– बैंक फ्रॉड में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी मुख्य आरोपी हैं। दोनों देश छोड़ कर भाग चुके हैं।