शराबंदी, मांसाहार एवं बेटी बचाओ का संदेश दिया आचार्य ने

0
15

कोटा। शहर के कुन्हाड़ी स्थित रिद्धी सिद्वी नगर में 7 मार्च को दिगम्बर जैन संतों को ऐतिहासिक मिलन होगा। इसके लिए सोमवार को सकल दिगम्बर जैन समाज समिति तथा जैन समाज के प्रमुख लोग बूंदी पहुंचे और आचार्य विराग सागर एवं एनके संघ को कोटा आने का विधिवत निमंत्रण दिया।

सकल दिगम्बर जैन समाज समिति के अध्यक्ष अजय बाकलीवाल ने बताया कि सोमवार को सुबह पूर्व मंत्री शांति धारीवाल एवं समाज के प्रमुख पदाधिकारी सकल समाज के महामंत्री विनोद टोरड़ी, कार्याध्यक्ष जेके जैन, परम संरक्षक राजमल पाटोदी, सुरेश चांदवाड़, नरेश जैन, पारसमल, विकास अजमेरा, मनोज टोंग्या, दीपक जैन, विजय दुगेरिया, कमलेश सांवाला आदि ने बड़ी संख्या में बूंदी में आचार्य विराग सागर को श्रीफल भेंट कर कोटा आने का निवेदन किया।

आचार्य एवं 55 पिच्छिधारी संतों का संघ लालकिला नई दिल्ली से रवाना हो कर टोंक के रास्ते कोटा होते हुए गंतव्य की पदयात्रा पर है। आचार्य ने इस अवसर पर शांति धारीवाल को धर्मघ्वजा भेंट की। धर्मसभा में आचार्य ने अपने संबोधन में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ,शराब बंदी,कन्या भ्रूण हत्या,मांसाहार पर रोक एवं स्वच्छता के संदेश युक्त 5 सूत्र दिए। कोटा के धर्मावलम्बियों ने आचार्य से महावीर जयंती तक कोटा में ही विराजने का अनुरोध किया है।

ऐतिहासिक मिलन होगा संतों को
बाकलीवाल ने बताया कि 7 मार्च को बंदी की तरफ से आ रहे आचार्य विराग सागर हाराज एवं उनके साथ के 45 साधु साघ्वियों के संघ का कोटा के तलवण्डी में बिराज रहे आचार्य 108 शशांक सागर एवं आर्यिका विकम्या माता के संतों का भव्य मिलन प्रातः 8 बजे से एक्जोटिका गार्डन में बनाए गए भव्य पांडाल में होगा ,इस अवसर पर कोटा एवं आस पास के समूचा जैन समाज के लोग बड़ी संख्या में संतों की अगवानी करेंगे।