US में नीरव मोदी की तीन कंपनियों ने दी दिवाला अर्जी

0
30

न्यूयार्क।  नीरव मोदी की तीन कंपनियों द्वारा यहां दायर दिवालिया अर्जी में पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) का ऋणदाता के रूप में कोई उल्लेख नहीं किया गया है। गौरतलब है कि सरकारी बैंक पीएनबी में हुए 2 अरब डॉलर के घोटाले का नीरव मोदी मुख्य आरोपी है।

नीरव मोदी की कंपनियों द्वारा दाखिल दिवालिया अर्जी के दस्तावेजों में केवल एचएसबीसी और इजरायल डिस्काउंट बैंक (आईडीबी) बैंक का ऋणदाता के रूप में उल्लेख है, जिनका कुल 2 करोड़ डॉलर दो कंपनियों पर बकाया है। आईडीबी से ऋण लेने के लिए मोदी ने निजी गारंटी प्रदान की थी, साथ ही दो अन्य कंपनियों ने भी गारंटी प्रदान की थी।

हालांकि, नीरव मोदी की इन तीन कंपनियों द्वारा अमेरिकी में दाखिल दिवालिया अर्जी अगर मंजूर हो जाती है तो पीएनबी को इन कंपनियों से अपने ऋण की वसूली में बाधाएं खड़ी हो जाएगी।

क्योंकि दिवालिएपन के मामले में दाखिल करने से कर्जदार और देनदार की संपत्ति के खिलाफ स्वचालित रूप से कर्ज की वसूली और कर्जदार की संपत्तियों के खिलाफ कार्रवाई करने पर रोक लग जाती है।

दिवालिया दस्तावेजों में कहा गया है, ‘अगर आप अपने कर्ज की वसूली की कोशिश करते हैं या कोई अन्य कार्रवाई करते हैं तो यह दिवालिया संहिता का उल्लंघन होगा और आपको इसके लिए दंडित किया जा सकता है।’

नीरव मोदी की तीन कंपनियों – फायरस्टार डायमंड इंक (एफडीआई), फैंटेसी इंक (एफआई), और ए जेफे इंक (एजेआई) ने अमेरिका के दक्षिणी न्यूयार्क दिवालिया अदालत में दिवालिया होने की याचिका दाखिल की है।