लालू के परिवार से जुड़ा फार्महाउस मनी लॉन्ड्रिंग की एक ही ऐसेट

0
10

नई दिल्ली।  प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट (PMLA) के तहत ऑथराइज्ड एक अथॉरिटी ने अपने फैसले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) की ओर से जब्त किया गया आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद की बेटी मीसा भारती और उनके पति के नाम पर मौजूद दिल्ली के एक फार्महाउस को मनी लॉन्ड्रिंग से ही जुड़ा बताया।

इसके साथ ही अथॉरिटी ने कहा कि इस फार्महाउस को जब्त रखे रहना चाहिए। दिल्ली के बिजवासन में मौजूद 12 बीघा के इस फार्महाउस को PMLA के तहत पिछले वर्ष सितंबर में अस्थायी तौर पर जब्त किया गया था। PMLA की अज्युडिकेटिड अथॉरिटी के मेंबर (लॉ) तुषार वी शाह की ओर से हाल ही में जारी एक आदेश में कहा गया है।

‘ईडी की ओर से वास्तविक शिकायत में दाखिल किए गए सबूतों के मद्देनजर मैंने अस्थायी तौर पर जब्त की गई प्रॉपर्टी को मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल पाया है। मैं आदेश देता हूं कि PMLA के तहत किए गए अपराध से जुड़ी कार्यवाही के अदालत के सामने जारी रहने तक इस प्रॉपर्टी को जब्त रखा जाए।’

यह प्रॉपर्टी मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार से संबंधित है और यह मेसर्स मिशेल पैकर्स ऐंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर है। जांच में पाया गया था कि इस फार्महाउस को 2008-09 में मनी लॉन्ड्रिंग से मिली 1.2 करोड़ रुपये की रकम से खरीदा गया था।

ईडी शेल या बोगस कंपनियों और दिल्ली के दो कथित एंट्री ऑपरेटर्स सुरेन्द्र जैन और वीरेन्द्र जैन से जुड़े करोड़ों रुपये के कथित मनी लॉन्ड्रिंग के मामले की जांच के हिस्से के तौर पर राज्यसभा में आरजेडी की सांसद मीसा भारती और उनके पति की जांच कर रहा है।

ये दोनों जैन भाई हैं और इन्हें ईडी ने इस मामले में गिरफ्तार किया था। ईडी ने जैन बंधुओं को मेसर्स मिशेल पैकर्स ऐंड प्रिंटर्स में शेयर प्रीमियम के तौर पर इन्वेस्टमेंट के लिए 90 लाख रुपये नकद उपलब्ध करानेवाले अकाउंटेंट राजेश अग्रवाल को भी गिरफ्तार किया था। मिशेल पैकर्स ऐंड प्रिंटर्स में भारती और उनके पति डायरेक्टर रह चुके हैं। इस मामले में ईडी ने मीसा और उनके पति से पूछताछ की थी और उनके बयान भी दर्ज किए गए थे।