PNB फ्रॉड: नीरव मोदी देश में अपने सभी स्टोर बंद करेगा, इम्प्लॉई होंगे बेरोजगार

0
19

नई दिल्‍ली। पीएनबी फ्रॉड में फंसने के बाद नीरव मोदी ने देश में अपने सभी स्‍टोर बंद करने का फैसला किया है। दूसरी ओर, इस खबर के सामने आने के बाद जेम्‍स एंड ज्‍वैलरी फेडरेशन ने मुंबई में मीटिंग की। इसमें यह फैसला हुआ कि इंडस्‍ट्री की साख बचाने के लिए नीरव मोदी के कर्मचारियों को नौकरी मुहैया कराई जाएगी। बता दें कि 11 हजार 356 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले का आरोपी नीरव मोदी जनवरी के पहले हफ्ते में देश से भाग गया है।

 हम समेट रहे हैं बिजनेस
– नीरव मोदी ग्रुप कंपनी के सूत्रों ने बताया कि नीरव मोदी ने अपनी कंपनियों के सीनियर अफसरों से कहा है कि हम भारत में अपना बिजनेस बंद कर रहे हैं। अभी ऐसी स्थिति नहीं है कि हम बिजनेस कर पाएं। ऐसे में जूनियर लेवल के इम्‍प्‍लॉइज को यह बता दें कि कंपनी अपना बिजनेस समेट रही है।

– इससे पहले, नीरव मोदी ने पीएनबी को लेटर लिखकर यह बताया था कि बैंक ने इस मामले में जल्‍दबाजी दिखाई और इस मामले को पब्लिक में ले आया। इससे उनका कारोबार और ब्रांड बर्बाद हो गया। इस तरह बैंक ने बकाया वसूली के रास्‍ते बंद कर लिए हैं। इससे पहले की खबर में गीतांजलि ज्‍वैलर्स की ओर से भी कारोबार बंद करने की बात सामने आई थी।

मोदी के कर्मचारियों को जॉब दिलाएगा जेम्‍स फेडरेशन
जेम्‍स एंड ज्‍वैलरी फेडरेशन के चेयरमैन नितिन खंडेलवाल ने बताया कि नीरव मोदी की कंपनी के जो कर्मचारी मैनेजमेंट के फैसले में शामिल नहीं थे, उन्‍हें अब्‍जॉर्ब करेंगे। इस संबंध में फेडरेशन जल्‍द ही एक नया रोडमैप जारी कर सकता है।

नीरव ने कर्मचारियों को लिखा खत
– नीरव मोदी ने अपनी कंपनियों के सीनियर अफसरों को लेटर भी लिखा है। इसके मुताबिक, उन्‍होंने बैंकों से कहा है कि वे उनका (कंपनी के कर्मचारियों को) ड्यू क्‍लीयर करें।
– इस लेटर में मोदी ने दावा किया कि वह कर्मचारियों को बकाया चुकाने के लिए कमिटेड है। बशर्ते इसके लिए उसे अपने अकाउंट्स का इस्तेमाल करने का मौका मिले।
– नीरव मोदी ने लिखा है कि करियर से जुड़े दूसरे ऑप्शन तलाशने का आपके लिए यह सही वक्‍त है। हालात ऐसे बन गए हैं कि मैं आप लोगों की सैलरी भी नहीं दे सकता। मोदी ने दावा किया वह कंपनी को फिर से शुरू करने के लिए कानून का सहारा लेंगे।

 दो बड़ी गिरफ्तारियां
– इससे पहले मंगलवार देर रात सीबीआई ने नीरव मोदी की कंपनी के चीफ फाइनेंस ऑफिसर (CFO) विपुल अंबानी और पीएनबी के जीएम रैंक के अफसर राजेश जिंदल को गिरफ्तार कर लिया। जिंदल 2009 से 2011 के दौरान मुंबई की उसी ब्रैडी हाउस ब्रांच में थे, जहां 11,356 करोड़ का घोटाला हुआ था। जिदंल अभी नर्इ दिल्‍ली स्थित पीएनबी हेड क्वार्टर में जीएम क्रेडिट की पोस्ट पर थे।
– घोटाला सामने आने के बाद यह अब तक की सबसे बड़ी गिरफ्तारी है। मामले के दो मुख्य आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी देश छोड़कर जा चुके हैं।

145.74 करोड़ और अटैच
– इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बुधवार को नीरव मोदी के अलग-अलग बैंक अकाउंट्स में जाम 145.74 करोड़ रुपए और अटैच कर लिए। अब तक उसके 141 बैंक अकाउंट अटैच किए जा चुके हैं।